अपनी जान जोखिम में डालकर पत्रकारिता कर रहे पत्रकार : ममता तिवारी

Hindi Journalism Day

-पत्रकारों को कोरोना वॉरियर्स घोषित करे सरकार

कुशीनगर, 30 मई (वेबवार्ता)। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में हिंदी पत्रकारिता दिवस पर पत्रकार विकास मंच ने कोरोना काल में पत्रकारिता की चुनौतियां विषय पर एक बैठक आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार वी.पी तिवारी के द्वारा किया गया। कार्यक्रम का संचालन पत्रकार व मंच के जिला संयोजक अजय मिश्रा के द्वारा किया गया।

इस कार्यक्रम के माध्यम से आज पत्रकार दिवस पर पत्रकार की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए ज्योतिभान मिश्रा ने कहा कि आज अगर आम जनमानस को किसी का सहारा है तो केवल पत्रकार साथियों के उपर ही है। उन्होने कहा कि आए दिन भ्रष्टाचार से लिप्त समाचारों को समाज में उजागर किया जा रहा है। जिससे आम जनमानस की समस्या का निवारण अधिकारियों के द्वारा किया जाता है।

वेबवार्ता न्यूज एजेंसी की पत्रकार ममता तिवारी ने कहा कि इस समय कठिन परिस्थितियों में पत्रकार अपनी जान जोखिम में डालकर पत्रकारिता कर रहे हैं। प्रदेश सरकार उनको कोरोना वॉरियर्स का सम्मान दिया जाना चाहिए।

वरिष्ठ पत्रकार संजय चाणक्य ने कहा कि वर्तमान समय जैसी परिस्थितियों के साथ हर समय में किसी भी विषम परिस्थितियों में पत्रकार अपने काम को अंजाम देते हैं। वह अपनी और अपने परिवार की भी परवाह नहीं करते हैं। ऐसे में सरकार द्वारा प्रत्येक पत्रकार की हर संभव मदद करनी चाहिए।

जीएनएस न्यूज़ एजेंसी के पत्रकार कनिष्क तिवारी ने कहा कि आज के परिवेश में पत्रकारिता इतना कठिन काम है कि शासन व जनता के बीच समस्याओं को कैसे प्रस्तुत किया जाय। ताकि सभी कोई परेशानी न हो। पत्रकार राकेश श्रीवास्तव ने कहा इस कोरोना काल में भी अनेक पत्रकार साथी अपनी रिपोर्टिंग के दौरान जान गंवा चुके हैं सरकार को हर संभव मदद करनी चाहिए।

पत्रकार अशोक मिश्र ने कहा कि आपदा के समय में न्यूज़ रिपोर्ट हम पत्रकार ही लाते हैं और हर मुश्किल वक्त में हम हिम्मत दिखाते हैं। इस अवसर पर पत्रकार अजय कुमार त्रिपाठी, विनोद गौड़, ईमामुद्दीन खान, के डी पांडे, पवन मिश्रा, नईम अंसारी आदि पत्रकार उपस्थित रहे।