25.1 C
New Delhi
Monday, October 3, 2022

सावधान! रिलायंस मॉल में खरीदारी करने जाएं तो संभलकर, आपके साथ होसकती है ठगी

वेबवार्ता: मुकेश शर्मा, ग्वालियर| शहर के सिटीसेन्टर इलाके में स्थिति रिलायंस स्मार्ट मॉल में यदि आप सामान खरीदने जारहे हैं तो सावधान होजाइये क्योंकि यहां ग्राहकों के साथ चोरी और सीना जोरी का खेल चल रहा है यानि मॉल उपभोक्ताओं के साथ खुलेआम ठगी कर रहा है।

मॉल की चमक,धमक या आधुनिकता की होड़ में अपना स्तर दिखाने के लिये लोग मॉल में खरीदारी करने तो चले जाते हैं, वहां जाकर उनको पता चलता है कि उनके साथ ठगी होगई। चाहे शब्जी हो या घी मॉल के हर सामान में गोलमाल है ऐसा ही बाकया दिनांक 24.08.2022 की शाम को शताब्दीपुरम निवासी एक ग्राहक अशोक शर्मा के साथ हुआ श्री शर्मा ने अपने घर के लिए लगभग 10 हजार रु का सामान खरीदा जिसमें अन्य सामान के साथ 5 किलो का अमूल घी का डब्बा भी था।

काउंटर पर बैठा व्यक्ति जब रेट चैक कर रहा था तो सभी वस्तुओं का रेट लगाने के बाद जब घी के डब्बे का नम्बर आया तो उसने कहा कि इसको हम आपको नहीं दे सकते यह पुरानी एमआरपी का है आप नई एमआरपी का ले जाओ इसके श्री शर्मा और काउंटर पर बैठे व्यकि से इस मुद्दे को लेकर काफी बहस हुई तब डिपार्टमेंट मैनेजर को बुलाया गया डिपार्टमेंट मैनेजर से श्री शर्मा ने कहा कि आप दोनों डब्बे देदो तो मैनेजर बोला कि अब आपको एक भी डब्बा नहीं मिलेगा कारण अमूल घी की नई और पुरानी पैकिंग में 5 किलो की पैकिंग में 300 रु का अंतर था ।इस तरह होती है रिलायंस स्मार्ट मॉल में ठगी पुरानी एमआरपी की कोई वस्तु ग्राहक को सस्ती मिलेगी क्योंकि मॉल कंपनी को वापस तो करेगा नहीं किसी न किसी तरह रेट बदल कर ग्राहकों को नई रेट में बेचदेगा इससे किसी वस्तु पर एक्सपायरी डेट भी बदल जायेगी इसलिए मॉल से सामान खरीदने से पहले सावधान होजाइये चमक दमक छोड़कर उसकी एक्सपायरी डेट और एमआरपी जरूर चैक करें नहीं तो मॉल आपको यूं ही ठगते रहेंगे।

इनका कहना है

मेंने 24 तारीख की शाम को सिटीसेन्टर के रिलायंस मॉल में घर के लिये 10 हजार रु से अधिक का सामान खरीदा जिसमें अमूल घी का 5 किलो का एक डब्बा था सब सामान का रेट लगगया तो आखिर में घी के डब्बे की बारी आई जिसको यह कहकर देनेसे मना कर दिया कि ये पुरानी रेट का है आप नई रेट का लेलो इसको में नहीं दे सकता बाद काउंटर पर बैठे व्यक्ति एवं डिपार्टमेंट मैनेजर ने नई रेट का भी देनेसे मना कर दिया। –अशोक शर्मा,उपभोक्ता शताब्दीपुरम

घी के रेट में अंतर था इसलिए मैंने पुरानी रेट का घी नहीं दिया जब यह पूछा कि नई रेट का भी तो मांगा था तो जबाब दिया कि में किसी कानूनी पचड़े में नहीं फसना चाहता इसलिए मैंने नया भी नहीं दिया।जब यह पूछा कि आपने पुरानी रेट के 25-30डब्बे नये डब्बों के बीच में क्यों लगा रखे हैं तो कहा कि हमारे गोडाउन में जगह नहीं है।- संयम मल्होत्रा डिपार्टमेंट मैनेजर,रिलायंस स्मार्ट मॉल

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,124FollowersFollow

Latest Articles