फारूक, महबूबा… 7 पार्टी मिलकर लड़ेंगे जम्मू-कश्मीर में DDC चुनाव, बढ़ी हलचल

New Delhi: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में सात क्षेत्रीय दलों को साथ लेकर हाल ही में गठित हुए पीपल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन (PAGD) ने जिला विकास परिषद (DDC) के चुनावों को साथ मिलकर लड़ने का फैसला किया है। साथ ही जम्मू-कश्मीर प्रदेश कांग्रेस समिति ने भी डीडीसी चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

15 अक्टूबर को गठित हुए PAGD में नैशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, पीपल्स कॉन्फ्रेंस, आवामी नैशनल कॉन्फ्रेंस, J&K पीपल्स मूवमेंट के साथ ही सीपीआई और सीपीएम भी शामिल हैं। प्रत्याशियों के नाम का ऐलान गठबंधन के प्रेसिडेंट फारूक अब्दुल्ला करेंगे। यह जानकारी प्रवक्ता सज्जाद गनी लोन ने अन्य नेताओं की उपस्थिति में दी।

कद्दावर नेता आगा मेंहदी ने किया वि’रोध

पिछले साल आर्टिकल 370 (Article 370) के प्रावधानों के हटने के बाद जम्मू-कश्मीर चुनाव आयोग ने हाल ही में खाली हुई पंचायत सीटों के उपचुनाव के साथ ही पहली बार डीडीसी चुनाव कराने का फैसला किया है। यह चुनाव 28 नवंबर को होंगे।

वहीं नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व मंत्री आगा रुहुल्लाह मेंहदी ने चुनाव लड़ने के PAGD के फैसले का विरोध करते हुए कहा कि यह मुख्यधारा के नेताओं के चुनाव में शामिल होने के लिए केंद्र सरकार का बिछाया जाल है।

कांग्रेस ने भी किया मैदान में उतरने का फैसला

दूसरी तरफ जम्मू कश्मीर प्रदेश कांग्रेस समिति (JKPCC) के अध्यक्ष जी.ए. मीर ने बताया कि पार्टी के चुनाव लड़ने का फैसला हाई कमांड और विभिन्न जिलों के नेताओं के साथ सलाह-मशविरा के बाद लिया गया है।

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस ही जम्मू-कश्मीर की सबसे पुरानी पार्टी है और लोकतांत्रिक प्रकिया से कभी अलग नहीं रही है। डीडीसी चुनाव में हम बीजेपी को खुला रास्ता नहीं दे सकते हैं। हालांकि सुरक्षा, आबादी के लिहाज से सीट सहित हमारी कुछ चिंताएं भी हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *