UP पुलिस की फजीहत, कानपुर के बाद गोंडा में व्यवसायी के बच्चे का अपहरण.. 4 करोड़ की मांगी फिरोती

New Delhi: Gonda Boy Kidnapped After Kanpur Case: उत्तर प्रदेश में दिनोंदिन अपराध (Crime in Uttar Pradesh) के मामले बढ़ते जा रहे हैं। कानपुर में अपहरण के बाद हत्या के मामले ने यूपी पुलिस की सक्रियता पर सवाल खड़ा कर दिया है। उधर, गोंडा जिले में एक बीड़ी व्यवसायी के 8 वर्षीय बेटे का बदमाशों ने अपहरण कर लिया।

इसके बाद बदमाशों ने परिवारवालों को फोन किया और 4 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी। इस मामले के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार (Yogi Government) पर हमला किया है।

गोंडा में 8 वर्षीय मासूम का बदमाशों ने दिनदहाड़े अपहरण (Gonda Boy Kidnapped After Kanpur Case) कर लिया। बताया जा रहा है कि सैनेटाइजर देने के नाम पर 8 वर्षीय नमो गुप्ता नाम के बच्चे का अपहरण किया गया। इसके बाद बदमाशों ने बच्चे के पिता के मोबाइल पर फोन किया और उनसे 4 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी।

इतना ही नहीं, बदमाशों ने परिवारवालों को धमकी भी दी कि अपहरण की सूचना यदि पुलिस को दी तो बच्चे की हत्या कर दी जाएगी। इस मामले में बच्चे के परिवारवालों की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया गया है। बदमाशों ने इस वारदात को कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र के गाड़ी बाजार के नजदीक अंजाम दिया।

‘…सरकार का ही एनकाउंटर कर दिया’

घटना को लेकर अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ‘कानपुर के बाद अब गोंडा में एक व्यापारी के बच्चे के अपहरण की खबर से उत्तर प्रदेश की जनता में आक्रोश फैल गया है। बीजेपी सरकार अगर उत्तर प्रदेश के बच्चों की रक्षा नहीं कर सकती है तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। लगता है अपराधियों ने एनकाउंटर वाली सरकार का ही एनकाउंटर कर दिया है।’ उधर, इस मामले में यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू ने कहा, ‘कुशासन वाली मगरूर सरकार की दम तोड़ती कानून व्यवस्था।’

क्या है कानपुर किडनैपिंग केस?

कानपुर में लैब टेक्निशन संजीत यादव का एक महीने पहले किडनैप हुआ था। इस मामले में 23 जून को गुमशुदगी लिखी गई। फिर 26 जून को इस रिपोर्ट को एफआईआर में तब्दील किया गया। वहीं, 29 जून को परिवारवालों को 30 लाख रुपये की फिरौती के लिए कॉल आया। संजीत यादव वापस नहीं लौटे क्योंकि उनकी हत्या 26 या 27 जून को ही कर दी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *