Ghaziabad डबल मर्डर में पुलिस ने चंद घंटों में किया खुलासा- गांव की महिला ने दोस्त के साथ मिलकर की हत्या

Webvarta Desk: गाजियाबाद के डबल मर्डर केस (Ghaziabad Double Murder) में पुलिस ने कुछ ही घंटों में बड़ा खुलासा किया है। वीभत्स घटना की आरोपी परिवार की परिचित महिला है जिसने अपने दोस्त के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास से पिस्टल, लूटी हुई धनराशि और जेवर बरामद हुए हैं। आरोपी महिला की पहचान उमा के रूप में हुई है जिसके दोस्त सोनू को पुलिस ने मुठभेड़ में गिरफ्तार किया।

गाजियाबाद एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि परिचित महिला ने लूट के इरादे के हमला (Ghaziabad Double Murder) किया था। आरोपी महिला साथी के साथ तमंचा लेकर लूटपाट करने गई थी। डराने के लिए फायर किया था, तमंचा जाम होने के बाद घर में रखे सिलबट्टे और चाकू से महिला समेत 5 लोगों पर हमला किया था। इसमें महिला और उनके घर ट्यूशन पढ़ाने के लिए आने वाली लड़की की मौत हो गई थी।

दोनों ने चाय पी और फिर कमरे में बंद करके मारा

आरोपी उमा ने पूछताछ में बताया, ‘डॉली मेरी सास की पोती लगती थी गांव के रिश्ते से। मैं उसकी अम्मा लगती थी। वो और बच्चे मुझे अम्मा बुलाते थे। काफी समय से मेरा सोनू के साथ मिलकर प्लान चल रहा था। मैं आज उसके घर चली गई। हमने चाय वगैरह पी। फिर सोनू ने सबको घर में बंद करके कर दिया। मैं बाहर खड़ी थी। उसने लड़की को गोली मारी। डॉली को भी गोली मारी थी। फिर वह किचन से चाकू, पेचकस और सिलबट्टा लाया था। मैं कमरे के बाहर की खड़ी थी।’

मौका-ए-वारदात में गठित की गई थी 5 टीमें

पुलिस ने आरोपी महिला उमा और उसके साथी सोनू को गिरफ्तार कर लिया है। सोनू की गिरफ्तारी मुठभेड़ के बाद हुई है। एसएसपी नैथानी ने बताया, ‘मसूरी थाना क्षेत्र में दो महिलाओं की हत्या के बाद तत्काल मैंने और अन्य पुलिस अधिकारियों ने मौका का मुआयना किया। वहीं पर पांच टीमें गठित की गई। जांच में पता चला कि इसी परिवार की एक परिचित महिला उमा से अपने मित्र के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। दोनों ने आर्थिक लाभ के लिए लूटने का प्लान बनाया था।’

घर पर ट्यूशन पढ़ाने आई युवती की भी हत्या

बता दें कि गाजियाबाद के मसूरी थाना क्षेत्र में शनिवार रात दिल दहलाने वाली घटना सामने आई थी जहां दो घर में घुसकर महिलाओं की हत्या कर दी गई थी। घटना में तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल हैं। इस खौफनाक वारदात में परिवार की 33 साल की डॉली और उनके यहां ट्यूशन पढ़ाने के लिए आई 17 साल की अंशु की जान जा चुकी है। अपराधियों ने काफी बर्बरता से हत्या को अंजाम दिया है। डॉली और अंशु पर सिलबट्टे और धारदार हथियार से वार किया गया है।

घायल बच्ची ने आरोपियों की शिनाख्त की

घटना के दोनों आरोपी सिहानी गेट गाजियाबाद के रहने वाले हैं। आरोपी उमा पीड़ित परिवार की पूर्व परिचित रिश्तेदार हरीश की पत्नी है जबकि सोनू उनका परिचित पड़ोसी है। आरोपियों के कब्जे से एक पिस्टल, तमंचा,घर से लूटे गए सोने व चांदी के जेवरात, नकदी, घटना के समय पहने हुए कपड़े और मोबाइल फोन बरामद हुए हैं। अभियुक्तों की शिनाख्त और पुष्टि घटना की चश्मदीद गवाह वादी की घायल बेटी गौरी ने अपने बयान में की है।