मेरे पास पार्टी के ऐसे वीडियो और फोटो जो पब्लिक में आए तो मच जाएगा हंगामा: BJP नेता एकनाथ खडसे

New Delhi: पार्टी से दरकिनार कर दिए BJP के वरिष्ठ नेता एकनाथ खडसे (Eknath Khadse) ने कहा है कि अगर उन्हें पार्टी से न्याय नहीं मिला, तो वह अपने पास मौजूद वीडियो और तस्वीरें सार्वजनिक कर देंगे।

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को सारे सबूत दिखाए जाने का दावा करते हुए खडसे (Eknath Khadse) ने कहा है कि वीडियो और फोटो अगर सार्वजनिक कर दिया, तो देशभर में हंगामा मच जाएगा।

एक समाचार चैनल से बात करते हुए खडसे (Eknath Khadse) ने कहा कि महाराष्ट्र में जब फडणवीस सरकार (Fadnavis Govt) थी तब कई सारे मंत्रियों पर भ्र’ष्टाचा’र के आ’रोप लगाए गए, लेकिन इस्तीफा उनसे ही लिया गया।

उन्होंने (Eknath Khadse) कहा कि देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) पर भी आ’रोप लगाए गए और सही भी पाए गए। उनकी पत्नी जिस एक्सिस बैंक में काम करती थी उसी बैंक में गृह विभाग के सारे बैंक खाते खोल दिए गए। विपक्ष ने उन पर पद के दुरुपयोग करने का आ’रोप लगाया, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

‘मुझे पता है कौन सी लिस्ट कहां भेजी जाती है’

एकनाथ खडसे (Eknath Khadse) ने कहा कि पार्टी के गतिविधियों की उन्हें अच्छी तरह से जानकारी है। कौन सी लिस्ट कहां भेजी जाती है, इसकी जानकारी उन्हें बेहतर है। देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के नेतृत्व में तो पहली बार चुनाव लड़ा गया जबकि उनके नेतृत्व में 1995 से चुनाव लड़ा गया है। चुनाव के बाद मुझसे कहा गया कि उन्हें राज्यसभा में भेजने के लिए उनका नाम दिल्ली भेजा गया है, बाद में मुझे बताया गया कि दिल्ली ने उनका नाम काट दिया। फिर विधान परिषद में भी मेरे नाम की चर्चा हुई, लेकिन यह मुझे अच्छी तरह से पता है कि कौन सी लिस्ट कहां भेजी जाती है।

‘मुझ पर अन्या’य हुआ’

एकनाथ खडसे (Eknath Khadse) ने कहा कि उनके साथ अन्याय हुआ है। उन्होंने 40 साल तक पार्टी की सेवा की है। विधानसभा चुनाव में मेरी बेटी को बगैर मांगे टिकट दिया गया और उसे हराने की व्यवस्था भी की गई। विनोद तावडे, चंद्रशेखर बावनकुले जैसे कई जीतने वाले नेताओं का टिकट काट दिया गया।

उन्होंने (Eknath Khadse) कहा कि मुझे मंत्री नहीं बनाया गया इसलिए यह बोल रहा हूं, ऐसा नहीं है। हमारे साथ अन्या’य किया है इसलिए बोल रहा हूं। खडसे ने कहा कि ‘नानासाहेब फडवीसांच बारभाई कारस्थान’ किताब पांच से छह महीने के आ जाएगी। किताब लिखने के लिए लेखक भी मिल गया है। कुछ जानकारियां आरटीआई से मंगाई है। किताब तथ्यपूर्ण होगी। खडसे ने दावा किया कि उस किताब में कई सारी सचाई सामने आएगी।

‘मुझसे इस्तीफा दिलाया गया’

फडणवीस सरकार (Fadnavis Govt) में इस्तीफा देने के का खुलासा करते हुए खडसे (Eknath Khadse) ने कहा कि उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया था, बल्कि इस्तीफा दिलाया गया था। उस वक्त मुझ पर आ’रोप लगाए गए थे। BJP के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी सतीश मेरे पास आए और बोले कि वरिष्ठों ने आपका इस्तीफा मांगा है। इसके बाद मैंने इस्तीफा दे दिया। वरिष्ठों के कहने पर मैनें कोरे कागज पर हस्ताक्षर कर दिए थे। मुझसे कहा गया कि बाहर प्रेस कॉन्फ्रेंस में आप को कहना है कि मैं खुद इस्तीफा दे रहा हूं और मामले की जांच की मांग करता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *