सरकारी कमेटी का अनुमान, जून के अंत तक दिल्ली में 1 लाख से ज्यादा होंगे कोरोना मरीज

नई दिल्‍ली। देशभर में कोरोना संक्रमण के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी का सिलसिला जारी है। इन सबके बीच जून के महीने को बेहद अहम माना जा रहा है। दिल्ली सरकार की कोविड-19 कमेटी ने दावा किया है कि जून खत्म होते-होते दिल्ली में कोरोना केस 1 लाख के पार जा सकते हैं।

इस अनुमान के आधार पर, कमिटी ने सरकार से 15,000 अतिरिक्‍त बेड्स की व्‍यवस्‍था करने को कहा है।

क्या कहती है रिपोर्ट

न्‍यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि दिल्ली को 15 जुलाई तक 42,000 बेड्स की जरूरत पड़ेगी। कमिटी के चेयरमैन डॉ महेश वर्मा ने ANI को बताया कि उनकी टीम ने मुंबई, अहमदाबाद, चेन्‍नई जैसों शहरों के ट्रेंड्स पर स्‍टडी की। उन्‍होंने कहा कि ‘हमारी कैलकुलेशंस बताती हैं कि जून के आखिर तक दिल्‍ली में एक लाख से ज्‍यादा मामले होंगे।

वर्मा ने कहा, हमने सरकार को रिपोर्ट सबमिट की है जिसमें 15,000 एडिशनल बेड्स तैयार करने की सलाह दी है। हम वायरस से लड़ने के लिए तैयार हैं।’ वर्मा के मुताबिक, इन बेड्स को होटल्‍स, मेकशिफ्ट केाविड ट्रीटमेंट फैस‍िलिटीज में रखा जा सकता है बशर्ते वहां ऑक्‍सीजन सप्‍लाई की व्‍यवस्‍था ठीक हो।

बहुत से मरीजों को हो सकता है Hypoxia

एक अन्‍य अधिकारी के मुताबिक, दिल्‍ली का डबलिंग रेट 15 दिन है। हमारा अनुमान कहता है कि केसेज बढ़ेंगे। अधिकारी ने कहा कि ‘दिल्‍ली के करीब 25 फीसदी मरीजों को अस्‍पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ेगी।

अधिकतर मरीजों को hypoxia होगा और 5 पर्सेंट पेशंट्स को वेंटिलेटर सपोर्ट की जरूरत होगी। इसलिए हमने सरकार को अधिकतम ऑक्‍सीजन सप्‍लाई अरेंज करने की सलाह दी है।’ Hypoxia वो कंडीशन होती है जब शरीर या शरीर के किसी हिस्‍से को टिश्‍यू लेवल पर पर्याप्‍त ऑक्‍सीजन नहीं मिलती।

दिल्‍ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने 2 मई को यह कमिटी बनाई थी। उनका काम था दिल्‍ली के अस्‍पतालों की तैयारियों को परखना, हेल्‍थ इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर को कसना और कोविड-19 से लड़ाई के लिए बेहतर मैनेजमेंट की रूपरेखा बनाना।

दिल्‍ली में बढ़ता ही जा रहा कोरोना

राजधानी में कोविड-19 मरीजों की संख्‍या में रेकॉर्ड इजाफा हो रहा है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक, रविवार सुबह तक दिल्‍ली में 27,654 कन्‍फर्म मामले थे। 16,229 मरीजों का इलाज चल रहा है जबकि 10,664 पेशंट्स ठीक होकर घर जा चुके हैं।

दिल्‍ली में अबतक 761 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। दिल्‍ली में 7 मई से 21 मई के बीच जहां प्रति 100 मामलों पर 7% पॉजिटिव केस थे, वहीं 19 मई से 1 जून के बीच यहं आंकड़ा बढ़कर 14% पर पहुंच गया। फिलहाल प्रति 100 टेस्‍ट पर कन्‍फर्म केस मिलने की दर 25% के पार हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *