पटाखे बैन! दिल्ली सरकार की सख्त एडवाइजरी, 7-30 नवंबर तक पटाखे छोड़े तो 1 लाख रुपये का जुर्माना

New Delhi: दिल्ली सरकार (Delhi Govt) की घोषणा के बाद शुक्रवार को डीपीसीसी (Delhi Pollution Control Committee) ने 7 से 30 नवंबर तक दिल्ली में पटाखे (Crackers Ban) पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया है। इससे पहले 23 अक्टूबर को डीपीसीसी ने एक अन्य पब्लिक नोटिस के जरिए लोगों को दिवाली, क्रिसमस और न्यू ईयर (Diwali, Christmas New Year) पर पटाखे चलाने के समय की जानकारी दी थी।

शुक्रवार को जारी हुए इस नोटिस में पुराने निर्देशों को तुरंत प्रभाव से रद्द कर दिया गया है। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने कहा कि सभी तरह के पटाखों (Crackers Ban) पर यह रोक रहेगी। एक सवाल के जवाब में गोपाल राय ने साफ किया कि यदि कोई बैन का उल्लंघन करता है तो एयर एक्ट के तहत अधिकतम एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान है।

डीपीसीसी (Delhi Pollution Control Committee) ने नए नोटिस में कहा है कि राजधानी की हवा दिन प्रतिदिन बिगड़ रही है। 5 नवंबर की शाम 6 बजे एयर इंडेक्स 435 पर था। यह गंभीर श्रेणी में हैं। वहीं दूसरी तरफ कोविड-19 की तीसरी लहर भी राजधानी में शुरू हो गई है।

ऐसे में यदि पटाखे जलाए गए तो लोग सोशल डिस्टेंसिंग के पालन को भूल सकते हैं। साथ ही प्रदूषण भी काफी गंभीर हो जाएगा। यही वजह से पटाखों पर यह प्रतिबंध लगाया गया है। सभी डीएम और डीसीपी को इन आदेशों को लागू करने को कहा गया है। साथ ही डेली एक्शन रिपोर्ट भी अधिकारी डीपीसीसी को जमा करेंगे।

गोपाल राय ने कहा कि दिवाली में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार दिल्ली में ग्रीन पटाखे जलाने की अनुमति दी गई थी, लेकिन पिछले दो तीन दिनों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। 7000 से अधिक मामले रोज आ रहे हैं। साथ ही पराली जलने के मामले बढ़ने के कारण हमारे तमाम प्रयासों के बावजूद दिल्ली का एक्यूआई स्तर बढ़ रहा है। पंजाब, हरियाणा, यूपी में पराली जलने के मामले बढ़ने से वायु स्तर खतरनाक स्थिति की तरफ बढ़ रहा है। एक्यूआई का स्तर लगभग 500-550 के बीच पहुंच गया है।

इन दोनों स्थितियों को देखते हुए सीएम आवास पर अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग, स्वास्थ्य मंत्री, राजस्व मंत्री, पर्यावरण विभाग की संयुक्त बैठक हुई थी। सारी परिस्थितियों को देखने के बाद यह निर्णय लिया गया कि दिल्ली के अंदर पटाखों पर पूरी तरह से बैन रहेगा।

राय ने कहा अब दिल्ली में 7 नवंबर से 30 नवंबर तक ग्रीन पटाखों की भी बिक्री और उपयोग पर रोक लगा दी गई है। इस संबंध में सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है। सरकार ने दिल्ली पुलिस और डिविजनल कमिश्नर को निर्देश दिए हैं कि दिल्ली के अंदर पटाखों पर लगे प्रतिबंध को लागू करने के लिए अपना तंत्र तैयार करें और अनुपालन सुनिश्चित कराएं।

सचिवालय में 9 नवंबर को दोपहर 12 बजे पर्यावरण विभाग, डिविजनल कमिश्नर और दिल्ली पुलिस के अधिकारी बैठक करके सरकार के आदेश का पालन कराने के लिए एसओपी तैयार करेंगे। दिल्ली सरकार प्रदूषण को कम करने के लिए सारे मोर्चों पर काम कर रही है, आगे भी हम इसे करेंगे।

One thought on “पटाखे बैन! दिल्ली सरकार की सख्त एडवाइजरी, 7-30 नवंबर तक पटाखे छोड़े तो 1 लाख रुपये का जुर्माना

  1. सरकार ने पटाखों पर बैन लगाना ही था तो छह महीने पहले लगा देना चाहिए, अब तक तो लाखों व्यापारी पटाखों के व्यापार में करोड़ों रूपये लगा चुके हैं पहले ही कोरोना के चलते लोगों को आर्थिक तंगी झेलनी पड़ी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *