Dr. Biswaroop Chaudhary

कोरोना एक अंतराष्ट्रीय साज़िश का परिणाम : डॉ. बिस्वरूप राय चौधरी

-मिल गया कोरोना का इलाज? राजस्थान के डॉक्टर का दावा- ठीक किए 5 हजार मरीज

नई दिल्ली, 25 जुलाई (वेबवार्ता)। कोरोना वायरस के इलाज को लेकर रोजाना नए दावे सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक दावा न्यूट्रीशनिस्ट और राजस्थान की श्रीधर यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओरिएंटल साइंसेस के विभागाध्यक्ष डॉ. बिस्वरूप चौधरी ने किया है। उनका कहना है कि उन्होंने अपने इस तरीके से पिछले 40 दिनों में 5 हजार से ज्यादा मरीजों को ठीक कर दिया है और ये नतीजा 100 फीसदी रहा है।

क्या है दावा?

शनिवार को दिल्ली के प्रेस क्लब में आयोजित एक प्रेस वार्ता में डॉ चौधरी ने कोरोना वायरस को एक अंतरराष्ट्रीय साजिश बताया। उन्होंने कहा कि इस वायरस की दवा बनाने की होड़ लगी है लेकिन सच्चाई है कि बिना दवा के कुछ प्राकृतिक आहारों का विशेष तरीके से सेवन करके ठीक किया जा सकता है। खानपान की इस विधि को उन्होंने थ्री स्टेप फ्लू आहार विधि का नाम दिया है।

क्या है विधि?

डॉ बिश्वरूप चौधरी कहते हैं कि इस विधि के तहत पहले दिन नारियल का पानी और सिट्रस फ्रूट का जूस लेना है और कुछ भी अतिरिक्त नहीं खाना है। नारियल पानी की मात्रा 5-6 ग्लास या उससे ज्यादा होनी चाहिए। दूसरे दिन इसको आधा कर नारियल पानी (3 ग्लास), सिट्रस जूस और 500 ग्राम खीरे खाने हैं। तीसरे दिन 2 ग्लास नारियल पानी, लंच में खीरा-टमाटर और शाम को शाकाहारी खाना लेना है। इतने तक ही अधिकतर मरीज ठीक हो जाएंगे नहीं तो इसे जारी रख सकते हैं।

हेल्पलाइन नंबर की शुरुआत

डॉ चौधरी ने कहा कि इस विधि को देशभर के कोरोनावायरस तक पहुंचाने के लिए उन्होंने एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है। इसके जरिए लोगों को मुफ्त सलाह और कोरोना से लड़ने के लिए अलग-अलग तरीकों के बारे में जानकारियां दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस हेल्पलाइन पर 200 से ज्यादा एक्सपर्ट पूरे भारत में उनके द्वारा तैयार किए गए तरीकों से कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करेंगे और उन्हें सलाह देंगे। हेल्पलाइन नंबर है 8587059169।

कैसे ठीक हुए मरीज

जिन मरीजों को इस विधि के जरिए ठीक किया गया है उनके विषय में अधिक जानकारी देते हुए डॉ चौधरी ने कहा किस तरीके से आहार लेने के चौबीस घंटों के भीतर 90 फीसदी से अधिक रोगियों में तापमान कम हो गया जबकि 48 घंटे में 60% रोगियों का जब टेस्ट किया गया तो वह कोविड नेगेटिव निकले। फ्लू के आहार के साथ जब रोगियों को DIP डाइट भी साथ में दी गई तो 7 दिनों के भीतर ही 95 फीसदी रोगी ठीक हो गए जबकि 14 दिनों में 100 फीसदी रोगियों को ठीक किया गया।

मास्क कर सकता है बीमार!

मास्क से पैदा हो रही समस्यायों का ज़िक्र करते हुए डॉ. बिस्वरूप रॉय चौधरी ने कहा “सिर्फ मास्क पहनने से सांस की बीमारियों से नहीं बचा जा सकता है, न ही कोरोना को यह फैलने से रोक सकता है। हां, इस बात की आशंका रहती है कि कभी-कभी यह आपको और ज़्यादा बीमार भी कर सकता है।” डॉ. चौधरी ने कहा कि कोरोनोवायरस शारीरिक रूप से लोगों को कम और मानसिक रूप से ज्यादा परेशान कर रहा है। इस मौके पर चेस्ट फिजिशियन और नागपुर म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन हेल्थ सर्विसेज के पूर्व डिप्टी डायरेक्टर डॉ. के.बी. तुमाने और दिल्ली के डॉ. तरुण कोठारी, एमबीबीएस, एमडी ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस को सम्बोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *