Monday, January 25, 2021
Home > State Varta > कांग्रेस ने किसान सम्मेलन को बताया नौटंकी, कहा- पार्टी की TRP बढ़ा रहे BJP नेता

कांग्रेस ने किसान सम्मेलन को बताया नौटंकी, कहा- पार्टी की TRP बढ़ा रहे BJP नेता

Webvarta Desk: Kisan Andolan: मोदी सरकार (Modi Govt) द्वारा संसद में पारित किए जा चुके कृषि कानून (Farms Law) के विरोध में पिछले 27 दिनों से लगातार दिल्ली की सीमाओं पर पड़ोसी राज्यों के किसान आंदोलन (Farmers Protest) कर रहे हैं।

दूसरी तरफ बिहार में किसान आंदोलन (Farmers Protest) के जवाब में भाजपा नेता किसान सम्मेलन (Kisan Sammelan) कर कृषि कानून (Farms Law) के फायदे से किसानों और लोगों को अवगत करा रहे है। लेकिन, विपक्ष के नेता लगातार बीजेपी के कार्यक्रम को नौटंकी बताते हुए उनपर निशाना साध रहे हैं।

बक्सर जिले के राजपुर विधायक विश्वनाथ राम और बक्सर सदर कांग्रेस विधायक संजय तिवारी (Congress MLA Sanjay Tiwari) ने इसी को लेकर एक प्रेस कांफ्रेंस की। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए उनके किसान सम्मेलनों को पूरी तरह से नौटंकी करार दिया। विधायक ने आरोप लगाया कि भाजपा के किसान सम्मेलनों में केवल पार्टी के नेता और कार्यकर्ता जुट कर अपने पार्टी की टीआरपी बढ़ा रहे हैं।

कांग्रेस विधायक ने कहा कि भाजपा के किसान सम्मेलनों में एक भी किसान नहीं पहुंच रहे हैं। उन्होंने बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा है कि भाजपा ने बक्सर में जो किसान सम्मेलन किया उसमें एक भी किसान नहीं आए। अगर किसान आए हैं तो उनकी लिस्ट चैनलों और समाचार पत्रों के माध्यम से भाजपा सार्वजनिक करें। एमएसपी पर किसानों के धान की खरीदारी नहीं हो रही है। केंद्र सरकार और बिहार सरकार केवल खोखले दावे कर रही है।

बक्सर के सांसद अश्विनी कुमार चौबे को निशाने पर लेते हुए मुन्ना तिवारी ने कहा कि चौबे जी मानसिक रूप से विक्षिप्त हो गए हैं। उन्हें मानसिक आरोग्यशाला या रांची भेजने की जरूरत है। इस दौरान उन्होंने उपमुख्यमंत्री के बयान पर भी जमकर प्रहार किया और सोच समझ कर बयान देने की नसीहत दी।

कांग्रेस विधायक ने दावा किया कि राज्य और केंद्र की सरकार किसानों के साथ छलावा कर रही है। उन्होंने केंद्र सरकार और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया कि सरकार यह सार्वजनिक करे कि बिहार और बक्सर के किन-किन पंचायतों में न्यूनतम मूल्य पर किसानों के धान की खरीद हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *