नौटंकी…ममता पर अधीर के हमले जारी- ‘CBI, CID, NIA बुलाइए, CCTV निकालिए…सच आएगा सामने’

Webvarta Desk: पश्चिम बंगाल (West Bengal) के नंदीग्राम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee Injuired) पर हुए कथित हमले के बाद से बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है।

TMC ने जहां कथित हमले के पीछे बीजेपी की साजिश करार दिया है। वहीं बीजेपी ने इसे ममता (Mamata Banerjee Injuired) का चुनावी स्टंट करार दिया है। बीजेपी बनाम ममता की इस लड़ाई में अब कांग्रेस ने भी मोर्चा खोल दिया है। सीनियर कांग्रेसी नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने इस मसले पर ममता पर निशाना साधा है।

कांग्रेस के सांसद और पश्चिम बंगाल कांग्रेस कमिटि के अध्यक्ष चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने कहा, ‘अगर इसके पीछे कोई षड्यंत्र है तो सीबीआई, सीआईडी, एनआईए या फिर एसआईटी को बुलाइए। ममता बनर्जी ऐसा क्यों नहीं कर रही हैं। आप जनता की सहानुभूति हासिल करना चाहती हैं। पुलिस कहां थी? CCTV कहां है? सीसीटीवी फुटेज निकालिए और सच्चाई सामने आ जाएगी।’

लोकसभा में कांग्रेस दल के नेता चौधरी ने कहा, ‘वह हमला, साजिश, हत्या के प्रयास का हवाला देते हुए लोगों की सहानुभूति हासिल करने की कोशिश में लगी हुई हैं। ममता दावा कर रही हैं कि घटना के वक्त उनके साथ पुलिस फोर्स नहीं थी। यह तो हास्यास्पद है। यह साफ तौर पर बहाने बनाकर चुनाव जीतने की कोशिश है।’

ममता पर नंदीग्राम में हुए कथित हमले को चौधरी ने नौटंकी और सियासी पाखंड करार दिया था। चौधरी ने कहा, ‘यह सहानुभूति बटोरने के लिए सियासी पाखंड है। ममता को लगा कि नंदीग्राम में जीतना मुश्किल है तो उन्होंने चुनावों से पहले यह नौटकी रची है। वो केवल मुख्यमंत्री नहीं, पुलिस मंत्री भी हैं। क्या आप यकीन कर पाएंगे कि पुलिस मंत्री के साथ एक भी पुलिस नहीं थी?’

नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान सीएम ममता बनर्जी कथित हमले में घायल हो गईं। ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि चार-पांच लोगों ने उन्हें धक्का दिया और वह गिर गईं। वह कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती हैं। अस्पताल के डॉक्टर मोनिमय बनर्जी के अनुसार, सीएम के बांये पैर और पंजे में गंभीर चोट आई है। उनके दाहिने कंधे और कलाई पर भी चोट आई है। वह ट्रॉमा में हैं। डॉक्टर ने डेढ़ महीने आराम की सलाह दी है।

बीजेपी ने इस मामले को झूठा करार दिया है। अब टीएमसी और बीजेपी दोनों ने ही इस मसले पर चुनाव आयोग का रूख करने की घोषणा की है। टीएमसी जहां इसे जानबूझकर किया गया हमला करार दे रही है। वहीं बीजेपी ने ममता पर नंदीग्राम में हमले पर झूठी खबर फैलाने का आरोप लगाया है।