CM योगी बोले- ‘हम देंगे देश को सबसे सुन्दर फिल्म सिटी’, खुशी से गदगद हुई कंगना

New Delhi: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा है कि देश को एक अच्छी फिल्म सिटी (Film City) की जरूरत है। उत्तर प्रदेश यह जिम्मेदारी को लेने के लिए तैयार है। हम एक उम्दा फिल्म सिटी तैयार करेंगे।

CM योगी (Yogi Adityanath) ने कहा, ‘फ़िल्म सिटी (Film City) के लिए नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे का क्षेत्र बेहतर होगा। यह फ़िल्म सिटी फ़िल्म निर्माताओं को एक बेहतर विकल्प उपलब्ध कराएगी। साथ ही, रोजगार सृजन की दृष्टि से भी अत्यंत उपयोगी प्रयास होगा। इस दिशा में भूमि के विकल्पों के साथ यथाशीघ्र कार्ययोजना तैयार की जाए।’

वहीं, कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के द्वारा नोएडा में फिल्म सिटी (Film City) बनाने के फैसले की सरहाना की है। इसके साथ ही कंगना ने एक ट्वीट कर बताया कि इन आ’तं’कियों से इंडस्ट्री को बचाना है।

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने ट्वीट में लिखा, ‘लोगों की धारणा है कि भारत में टॉप फिल्म इडंस्ट्री हिंदी फिल्म इंडस्ट्री है जो कि गलत है। तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री खुद को टॉप स्थान पर ले गया है और अब भारत में कई भाषाओं में फिल्में हो रही है, कई हिंदी फिल्मों की शूटिंग रामोजी हैदराबाद में की जा रही है।’

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने एक अन्य ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैं इस घोषणा की सराहना करती हूं, योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath)। हमें फिल्म उद्योग में कई सुधारों की आवश्यकता है, सबसे पहले हमें एक बड़े फिल्म इंडस्ट्री की आवश्यकता है जिसे भारतीय फिल्म इंडस्ट्री कहा जाता है, जिसे हम कई कारकों के आधार पर विभाजित करते हैं, हॉलिवुड फिल्मों को इसका लाभ मिलता है। एक उद्योग लेकिन कई फिल्म सिटीज।’

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने लिखा, ‘डब की गईं क्षेत्रीय फिल्मों को ज्यादातर पूरे भारत में रिलीज नहीं किया जाता है लेकिन डब की गईं हॉलीवुड फिल्मों को रिलीज किया जाता है। यह चिं’ताज’नक है। कारण अधिकांश हिंदी फिल्मों की गुणवत्ता है और थिएटर स्क्रीन पर उनके एकाधिकार ने भी हॉलीवुड फिल्मों के लिए आकांक्षात्मक कल्पना पैदा की है।’

कंगना रनौत ने आगे लिखा कि इन 8 आ’तं’कियों से इंडस्ट्री से बचाना है, ‘भाई-भतीजावाद आ’तंक’वाद, ड्र;ग्स मा;फिया आतं;कवाद, लिं;गभेद आ;तंक;वाद, धार्मिक और क्षेत्रीय आ;तंक;वाद, विदेशी फिल्मों का आ;तंक;वाद, पाइरेसी आ;तं;कवा;द, मजदूरों के शो;षण से जुड़ा आ;तं;कवाद, प्रतिभा के शो;षण का आ;तं;कवाद।’

बताते चलें कि कंगना रनौत ने जब से मुंबई को पीओके कहा है, तब से पूरा मामला शुरू हुआ है और अभी तक चल रहा है। इस दौरान बीएमसी ने कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ की, कंगना ने बॉलिवुड में ड्र;ग्स को लेकर बयान दिया और कंगना को Y स्तर की सुरक्षा दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *