राजस्थान: विधानसभा में बोले CM गहलोत- राजस्थान प्रकरण पर सबसे ज्यादा धक्का अमित शाह को लगा होगा

New Delhi: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Rajasthan CM Ashok Gehlot) ने विधानसभा (Rajasthan Vidhansabha) में विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया (Gulab Chand Kataria) का आज नया रूप देखने को मिला। उनके तमाम आरोपों को अस्वीकार करता हूं। विश्वास मत में बोलने के लिए आपके पास काफी कुछ था, लेकिन आपने ऐसा नहीं किया।

गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कोरोना को लेकर जिस तरह से आपने चर्चा की उसको लेकर अफसोस है। कोरोना काल में पूरी दुनिया राजस्थान की तारीफ करती है। प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) कहते हैं कि कोरोना रोकथाम को लेकर अन्य राज्यों को राजस्थान से प्रेरणा लेनी चाहिए। मैंने तो उनसे ऐसा कहने को तो नहीं कहा। भीलवाड़ा मॉडल को लेकर हमने पीएम को नहीं बताया।

सीएम (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि देश हर राजनीतिक दलों में नेताओं के बीच पॉलिटिकल डिस्टेंस पैदा होते रहे हैं। पूरे प्रकरण का जिस खूबसूरती के साथ समापन हुआ उसका धक्का अगर इस देश में किसी को लगा तो वह अमित शाह (Amit Shah) और आपको लगा। सरकार को गिराने में केंद्र सरकार जितने बड़े-बड़े नेता शामिल थे, लगता है उन्होंने आपको इसमें शामिल नहीं किया।

सीएम (CM Ashok Gehlot) ने कहा हो सकता है आप इन सब से अनभिज्ञ हो। आप नेता प्रतिपक्ष हैं और जितनी सफाई से आप अपनी बात कह रहे हैं यह समझ से परे हैं। फोन टैप में पता चल चुका है कि कौन-कौन केंद्रीय मंत्री शामिल थे। लेकिन इतना कहूंगा कि आपके सपने कभी पूरे नहीं होंगे। पूरे चार महीने आपने किस तरह से षडयंत्र किया इसका पूरा देश गवाह है।

‘सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को’

सीएम (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि क्या किया आपने कर्नाटक, मणिपुर, गोवा, मध्य प्रदेश में। हर जगह आपने कांग्रेस के विधायक चुरा लिए। हर जगह आपने लोकतंत्र को खतरे में डाल दिया है। षडयंत्र करके आप क्या क्या कह रहे हैं यह बताने की जरूरत नहीं हैं। आपकी तो सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को वाली हालत है।

आपके केंद्रीय मंत्री का फोन कैसे टेप हो गया आप मुझसे पूछ रहे हो। आप तो गृहमंत्री रह चुके हो। राजस्थान में कभी परंपरा रही नहीं है गैर कानूनी तरीके से फोन टैप करने की। ये भी कहूंगा ऐसा कभी हुआ भी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *