एनआईटी रायपुर में हुआ ऊर्जा संरक्षण पर ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन

Construction work of medical college started in Kushinagar

रायपुर, 12 जुलाई (वेबवार्ता)। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रायपुर में दस दिवसीय ऊर्जा संरक्षण के विषय पर ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। जागरूकता कार्यक्रम का सोमवार से उद्घाटन किया गया है और यह 23 जुलाई 2021 तक चलेगा। यह कार्यक्रम एनआईटी रायपुर के स्टूडेंट वेलफेयर सेक्शन तथा पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ (पीसीआरए), पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित करवाया गया है। कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों को ऊर्जा संरक्षण के महत्व, संरक्षण के तरीके तथा लाभ के बारे में अवगत करवाना है।

पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ (पीसीआरए), पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में स्थापित एक पंजीकृत सोसाइटी है। यह एक राष्ट्रीय सरकारी एजेंसी है, जो अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में ईंधन संरक्षण और ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने में कार्यरत है। प्रोग्राम गूगल मीट के माध्यम से कुल 10 बैचों के लिए आयोजित करवाया गया है, जिसमें कोर इंजीनियरिंग ब्रांच के चतुर्थ वर्ष के छात्र सम्मिलित होंगे।

उद्घाटन समारोह की शुरुवात करते हुए डॉ. प्रभात दीवान डीन स्टूडेंट वेलफेयर एनआईटी रायपुर ने मुख्य अतिथि डॉ. एएम रावाणी डायरेक्टर एनआईटी रायपुर, प्रणब केआर भारसा, जेटी निदेशक, पीसीआरए (ई-आर, कोलकाता) और संपद बोस, फैकल्टी, पीसीआरए का स्वागत किया। उन्होंने ऊर्जा के विकास पर अपनी बहुमूल्य राय जोड़कर सत्र को संबोधित किया।

उनके बाद प्रणब भरासा और संपदा बोस ने विचार को आगे बढ़ाते हुए ऊर्जा संरक्षण पर अपने विचार जोड़े। उनके बाद डॉ. एएम रावाणी नें संसाधनों के विवेकपूर्ण उपयोग पर तथा नयी और कुशल तकनीकी के साथ वैकल्पिक ऊर्जा स्रोतों पर अपनी बात रखी। उन्होंने ऊर्जा संरक्षण की दिशा में केंद्रित व्यापक नीति के महत्व पर जोर दिया। यह जागरूकता कार्यक्रम सम्पद एम बोस फैकल्टी, पीसीआरए एवं डॉ नितिन जैन द्वारा संचालित किया गया। अंत में डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. प्रभात दीवान ने उद्धघाटन को सफल बनाने के लिए वक्ताओं और प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया।