दिल्ली पुलिस ने शरजील के खिलाफ देशद्रोह मामले में दाखिल की चार्जशीट, लैपटॉप ने उगला राज

New Delhi: Charge sheet against Sharjeel Imam: दिल्ली पुलिस ने सीएए विरोधी दंगों से संबंधित एक मामले में जेएनयू के पूर्व छात्र शरजील इमाम के खिलाफ दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है।

दिल्ली पुलिस ने यह चार्जशीट (Charge sheet against Sharjeel Imam) यूएपीए एक्ट के तहत दखिल की है, पुलिस ने देशद्रोह के साथ 153 (ए) (शत्रुता को बढ़ावा देना), 153-ए (शत्रुता को बढ़ावा देना, समुदायों के बीच घृणा फैलाना), 153-बी (राष्ट्रीय एकता के खिलाफ वक्तव्य) और 505 (अफवाह फैलाना) को भी जोड़ा है।

शरजील पर CAA के खिलाफ शाहीन बाग (Shaheen bagh) में प्रदर्शन के दौरान, राष्ट्र की संप्रभुता, अखंडता को नुकसान पहुंचाने वाली गतिविधियों में लिप्त होने और लोगों को कथित तौर पर उकसाने का आरोप है। अदालत मामले में 27 जुलाई को सुनवाई कर सकती है।

शरजील पर हैं ये आरोप

शरजील इमाम पर आरोप है कि उन्होंने एक विशेष समुदाय के लोगों को प्रमुख शहरों के लिए जाने वाले हाई-वे को रोककर “चक्का जाम” करने का आह्ववान किया था, जिससे सामान्य जीवन बाधित हो गया। इमाम ने खुलेआम संविधान का उल्लंघन किया और इसे ‘‘फासीवादी’’ दस्तावेज बताया।

इसमें बताया गया है, ‘सीएए के विरोध के नाम पर उसने खुलेआम दुष्प्रचार किया कि ‘चिकेन नेक’ को जाम किया जाए जो पूर्वोत्तर को शेष भारत से जोड़ता है। उसने प्रदर्शन के लोकतांत्रित तरीकों का भी अपमान किया। इस केस की जांच कर रही टीम को शरजील इमाम के बारे में पता चला कि उसने मस्जिद के आसपास वाले इलाकों में भड़काऊ पोस्टर भी बटवाएं थे, इसका पता उस वक्त चला जब पुलिस ने शरजील इमाम का लैपटॉप चेक किया।

लॉकडाउन के कारण जांच हुई प्रभावित

निचली अदालत ने 25 अप्रैल को जांच एजेंसी को इस मामले की जांच पूरी करने के लिए और 90 दिनों का वक्त दिया था. हालांकि पुलिस ने कहा था कि कोरोना महामारी और लॉकडाउन से जांच पर असर पड़ा है।

बता दें कि शरजील इमाम को 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया था। शरजील दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन के आयोजन में शामिल था, लेकिन वह तब सुर्खियों में आया था जब एक वीडियो में वह अलीगढ़ विश्वविद्यालय में एक सभा में विवादास्पद टिप्पणी करते हुए देखा गया, उसके बाद उस पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *