पैसों के लिए बेच दी नागरिकता! घूस लेकर 16 रोहिंग्याओं को बनवाया वोटर, BLO सस्पेंड

Webvarta Desk: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद (Moradabad News) में ब्लॉक लेवल अफसर (BLO) ने पूर्व प्रधान के साथ मिलीभगत कर 16 रोहिंग्याओं (Rohingyas Muslims) को फर्जी तरीके से वोटर बना दिया है। इस काम के लिए बीएलओ ने रिश्वत भी ली।

जांच में आरोप सही साबित होने पर एसडीएम ने सभी वोट कैंसल करने के आदेश दिए हैं। वहीं बेसिक शिक्षा अधिकारी ने BLO (सहायक अध्यापक) प्रशांत कुमार को निलंबित कर दिया है।

यह मामला मुरादाबाद (Moradabad News) जिले के भगतपुर टांडा के रुस्तमपुर तिगरी ग्राम पंचायत से जुड़ा हैं। म्यांमार से भारत आकर अवैध रूप से रह रहे रोहिंग्याओं (Rohingyas Muslims) को फर्जी तरीके से वोटर बनाए जाने की शिकायत 29 जनवरी 2021 को गांव के ही नाजिर और पीरबख्श ने की थी। तहसील प्रशासन के मुताबिक आरोप था कि पूर्व प्रधान शकील अहमद ने फर्जी कागज लगाकर बीएलओ से मिलीभगत कर रोहिंग्याओं को वोटर बनवा दिया।

बताया गांव का निवासी

भगतपुर टांडा के रुस्तम तिगरी ग्राम पंचायत में बीएलओ प्रशांत कुमार तैनात हैं। निर्वाचन विभाग को प्रारूप-छह पर 16 ऑनलाइन आवेदन प्राप्त हुए। बीएलओ ने कहा कि इन आवेदनों की 1 जनवरी 2021 को जांच हो चुकी है। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में इन 16 रोहिंग्याओं को गांव का निवासी बताया था।

रुस्तमपुर तिगरी प्राइमरी स्कूल की लिस्ट में क्रम संख्या 794 से 809 तक इन 16 लोगों का नाम दर्ज कर दिया गया। एसडीएम सदर प्रेरणा सिंह ने जांच करवाई तो रोहिंग्याओं को वोटर बनाए जाने की पुष्टि हुई, जिसके बाद बीएलओ के खिलाफ ऐक्शन लिया गया। एसडीएम ने पुलिस को जांच कर कार्रवाई करने को भी कहा है।