महीनेभर से युवती का पीछा कर रहा था BJP नेता! जूते-चप्पलों से हुई पि’टाई

New Delhi: कानपुर में एक बीजेपी नेता (BJP Leader) को लड़की का पीछा करना (BJP Leader Staking) महंगा पड़ गया। आ’रोप है कि एक महीने से बीजेपी नेता युवती का पीछा करते हुए दोस्ती का दबाव बना रहा था।

जब युवती ने परिजनों को बात बताई तो आ’रोपी नेता मनीष पांडे (BJP Leader Manish Pandey) की परिजनों ने जमकर पि’टाई की। बाद में उसे पुलिस को सौंप दिया गया। आरोपी मनीष पांडेय गोविंदनगर विधानसभा सीट के कल्याणपुर से बीजेपी सेक्टर अध्यक्ष बताया जा रहा है।

परिजनों के मुताबिक वह एक महीने से युवती का पीछा (BJP Leader Staking) कर रहा था। बुधवार को युवती ने अपने परिजनों के साथ मिलकर बीजेपी नेता मनीष पांडेय की जूते-चप्पल और लात-घूंसों से पि’टाई की। पि’टाई के बाद परिजनों ने उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

आ’रोप है कि मनीष पांडेय राह चलते युवती से दोस्ती करने का दबाव बना रहा था। युवती ने यह बात अपने परिजनों को बताई। इसके बाद परिजनों ने मनीष को दबोचने की योजना बनाई थी।

युवती ने मिलने को बुलाया और परिजनों के साथ मिलकर की पि’टाई

युवती के परिजनों ने मनीष को रंगे हाथ पकड़ने के लिए प्लान बनाया। पीड़ित युवती ने मनीष को मिलने के लिए बुलाया था। जैसे ही मनीष पहुंचा तो पूरे परिवार ने लात-घूंसों से पी’टना शुरू कर दिया। पीड़ित परिवार ने इसके बाद पुलिस कंट्रोल रूम को मामले की सूचना दी और पुलिस के हवाले कर दिया।

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

बीजेपी नेता मनीष पांडेय की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि मनीष बाइक पर बैठे थे। इसी दौरान हरे रंग का कुर्ता और जींस पहने एक शख्स ने बाइक से धक्का देकर गिरा दिया और मनीष को पीटना शुरू कर दिया। इस बीच दो महिलाएं आईं और जूते-चप्पल से पीटना शुरू कर दिया। किसी शख्स ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

एक महीने से बातचीत हो रही थी: आ’रोपी

आरोपी मनीष पांडेय ने बताया, ‘लड़की से मिलने के लिए गया था। मेरी एक महीने से बातचीत हो रही थी। आज मिलने के लिए गया बुलाया था और मेरे साथ यह सब हो गया। पता नहीं किसी ने भ’ड़का दिया या फिर किसी के कहने पर मेरे साथ इस तरह का बर्ताव किया गया।’ इस मामले में कल्याणपुर इंस्पेटर का कहना है कि यदि किसी तरह की तहरीर मिलती है तो विधिक कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *