मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू की नौ जिलों में पुष्टि

Bird Flu
Bird Flu

-केन्द्र एवं राज्य शासन ने एडवाइजरी जारी कर सावधानी एवं सतर्कता बरतने को कहा

-एम.एस. खान-

पन्ना (वेबवार्ता)। कोरोना महामारी से अभी समूचा देश जूझ ही रहा है कि एक और बीमारी बर्ड फ्लू की दस्तक से लोग सहम गये हैं। पूरे प्रदेश में बर्ड फ्लू की रोकथाम के लिये राज्य शासन द्वारा सतत निगरानी कर बीमारी की रोकथाम सुनिश्चित करने का हर संभव प्रयास किया जा रहे है।वहीँ प्रदेश के जिला पन्ना में प्रशासनिक लचरता के कारण बर्ड फ्लू के नाम पर लोगों को डराने का काम किया जा रहा है।

जिला प्रशासन द्वारा बर्ड फ्लू की दस्तक को देखते हुये लोगों को सावधानी और सतर्कता बरतने के लिये अपील की जा रही है तो दूसरी ओर पन्ना नगर पालिका ने प्रशासनिक अपील को दरकिनार करते हुये संक्रमण काल में पत्र जारी करते हुये कहा कि प्रदेश में बर्ड फ्लू के कारण कई लोगों की मौत हो गयी है इसलिए चिकिन की दुकानों तत्काल बंद करने का आदेश दिया जाता है।

काबिलेगौर है कि प्रदेश में अभी तक बर्ड फ्लू से मानव संक्रमण का एक भी मामला दर्ज नहीं हुआ है। नगर पालिका पन्ना की लापरवाही सामने आने के बाद प्रशासन हरकत में आया और जारी सूचना को निरस्त किया गया। इससे एक बात साफ़ हो गई है कि कोरोना महामारी के संकटकाल में भी प्रशासनिक लचरता में कोई कमी नहीं आयी है।

प्रदेश में अब-तक 9 जिलों–इंदौर, मंदसौर, आगर, नीमच, देवास, उज्जैन, खण्डवा, खरगौन और गुना में कौओं में बर्ड फ्लू वायरस की पुष्टि हो चुकी है। अब-तक 21 जिलों से 885 कौओं और 9 बगुलों की मृत्यु की सूचना मिली है। विभिन्न जिलों से 293 सेम्पल राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा रोग अनुसंधान प्रयोगशाल ‘निहसाद’ भोपाल को जाँच के लिये भेजे गये हैं।

इंदौर और नीमच जिले में बर्ड फ्लू से प्रभावित क्षेत्र के आस-पास कुक्कुट बाजार आदि को सतर्कता एवं सावधानी की दृष्टि से अगले सात दिनों के लिये बंद किया गया है। इंदौर के चिकन मार्केट में लगभग 200 मुर्गियों और 700 अण्डों तथा नीमच जिले के चिकिन मार्केट की दुकानों में लगभग 450 मुर्गियों का निस्तारण संक्रमण की रोकथाम के लिये किया गया है।

संचालक पशुपालन ने कुक्कुट पालकों से अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान न देते हुए अनावश्यक भ्रम या भय की स्थिति उत्पन्न न होने दें। सभी जिलों में रोग नियंत्रण की कार्यवाही भारत सरकार की एडवाइजरी के अनुसार की जा रही है। केन्द्र एवं राज्य शासन की एडवाइजरी के अनुसार पूर्ण सावधानी एवं सतर्कता बरतें।