CM नीतीश ने भी माना बिजली कंपनियों में है कोयले की कमी, बिहार वालों को रोशनी कम ना होने का दिया भरोसा

पटना
बिजली कंपनियों में जरूरत से कम कोयला आपूर्ति होने से देशभर में पैदा हुए ऊर्जा संकट पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हामी भरी है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को पटना में कहा कि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि बिजली कंपनियों को जितनी मात्रा में कोयले की जरूरत है उतनी आपूर्ति नहीं हो पा रही है इसलिए बिजली उत्पादन प्रभावित हुआ है। हालांकि उन्होंने बिहार की जनता को आश्वस्त किया कि राज्य में बिजली संकट नहीं होने दिया जाएगा। बिहार सरकार ऊंची कीमतों पर दूसरी निजी कंपनियों से बिजली खरीदकर राज्य के लोगों को बिजली आपूर्ति कर रही है।

कोयले की कमी, बिजली कटौती, पीएम से गुहार लगाते सीएम… लेकिन ऊर्जा मंत्री बोले- सब चंगा सी

सीएम नीतीश ने कहा कि कोयला की कमी चलते पैदा हुए बिजली संकट के बारे में मैंने विभाग के अधिकारियों को सोमवार सुबह जानकारी लेने को कहा है। कुछ दिन पहले से यह समस्या है। स्थिति का जायजा लेने के बाद अफसरों ने मुझे बताया है कि यह फैक्ट है जितना यहां की जरूरत है या पहले जितनी आपूर्ति होती थी उसमें कमी है। पहले हम एनटीपीसी से या प्राइवेट कंपनियों से बिजली लेते थे, इन सबसे जितनी आपूर्ति का प्रावधान है, उतनी नहीं हो पा रही है। इसके चलते समस्या आई है।

आखिर देश में क्यों गहरा रहा बिजली संकट, ये हैं अहम वजह; चीन का एंगल भी जानिए

विकल्प के तौर पर बिजली जहां से ज्यादा दाम पर उपलब्ध हो रही है वहां से खरीदकर अब आवश्यकता की पूर्ति करने की तरफ हम जा रहे हैं। स्थिति को तो हम लोग ठीक करेंगे, लेकिन एक बात जान लीजिए कि सप्लाई कम हो गया है। इससे स्पष्ट है कि सप्लाई कम होने से बिजली का प्रोडक्शन कम होगा। इसी वजह से यह दिक्कत आई है। हमारे राज्य का विभाग पूरे तौर पर लगा हुआ है। हम लोग जल्द ही नॉर्मल स्थिति में पहुंच जाएंगे। विभाग ने मुझे पूरी डिटेल जानकारी दी है कि कितनी कमी थी, कितनी बिजली अलग-अलग जगहों से खरीदी गई है। सीएम ने बताया कि पिछले पांच दिनों में विद्युत एक्सचेंस से करीब 570 लाख यूनिट बिजली की खरीद की गई है, जिसकी कुल लागत 90 करोड़ रुपये है। इस खरीद के बाद पिक आवर में करीब 5500-5600 मेगावाट बिजली उपलब्ध होगी। स्पष्ट कर दूं कि बिजली उपलब्धता बनाए रखने में हम लोगों का पैसा ज्यादा लग रहा है।

बिजली के लिए हम लोगों का एनटीपीसी और कुछ प्राइवेट कंपनियों से जो तय था उतनी आपूर्ति नहीं होने से दूसरी जगहों से बिजली हम ले रहे हैं। पैसा भले ज्यादा लग रहा हो, लेकिन बिजली की आपूर्ति हम लोग कर रहे हैं। यह बात बिल्कुल सही है कि बिजली कंपनियों को जितना कोयला चाहिए उतनी आपूर्ति नहीं हो पा रही है। कारण क्या है यह देखने की जरूरत है।

nitish-kumar-2

सीएम नीतीश बोले बिहार में नहीं होगा बिजली संकट।