राजभवन में नजर आए सुशील मोदी, पत्रकारों के सवाल पर मुंह मोड़ा

पटना
कुर्सी छिनने के बाद से ही बिहार के उपमुख्यमंत्री रहे सुशील मोदी मायूस नजर आ रहे हैं। उन्होंने सोमवार को खुद ही ट्वीट कर जानकारी दी थी कि मुझे पार्टी ने 40 सालों तक बहुत सम्मान दिया है। लेकिन इस बार सुशील मोदी को बिहार सरकार में जगह नहीं मिली है। उसके बाद से ही सुशील मोदी सार्वजनिक कार्यक्रमों में नजर नहीं आ रहे हैं। पार्टी की तरफ से संदेश मिलने के बाद से सुशील मोदी बीजेपी ऑफिस नहीं गए हैं।


नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण में गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी पहुंचे थे। एयरपोर्ट पर स्वागत के लिए सुशील मोदी पहुंचे थे। फ्रंट पर अमित शाह और जेपी नड्डा के साथ केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय और संजय जायसवाल नजर आ रहे थे। सुशील मोदी कहीं नहीं दिख रहे थे। इसके साथ ही जब दोनों केंद्रीय नेता बीजेपी ऑफिस पहुंचे तो सुशील मोदी नजर नहीं आए।

सवालों से मुंह मोड़ा
हालांकि राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान सुशील मोदी नजर आए हैं। लेकिन वहां भी सुशील मोदी के चेहरे की रंगत उड़ी हुई थी। वह मीडिया से भी दूरी बना रहे थे। एक समय में नीतीश कुमार और सुशील मोदी आमने-सामने भी हुए हैं। लेकिन मीडिया के सवालों पर सुशील मोदी ने कोई जवाब नहीं दिया है। इसके साथ ही वह सोशल मीडिया पर भी कोई राजनीतिक जवाब नहीं दे रहे थे।

डेप्युटी CM कुर्सी छिनने से नाराज हुए सुशील मोदी! एयरपोर्ट पर मिलकर अमित शाह के साथ BJP दफ्तर नहीं पहुंचे

दिल्ली बुला कर सुशील मोदी को दिया गया था संदेश
दरअसल, बिहार चुनाव के नतीजों के बाद सुशील मोदी को दिल्ली तलब किया गया था। दिल्ली पहुंचने के बाद सुशील मोदी को पार्टी के वरीय नेताओं ने नेतृत्व के फैसले से उन्हें अवगत करा दिया था। इसके बाद सुशील मोदी दिल्ली से लौट आए थे। बिहार चुनाव के पर्यवेक्षक बनाए गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ वह नजर जरूर आए थे। लेकिन मीडिया का सामना नहीं कर पा रहे हैं।

एक पूजा कार्यक्रम में भी हुए शामिल
अगर पूरे दिन की बात करे तो बिहार के पूर्व डेप्युटी सीएम सुशील मोदी पटना के गर्दनीबाग स्थित ठाकुरबाड़ी में चित्रगुप्त पूजा के दौरान नजर आए हैं। मोदी वहां भी उदास ही नजर आ रहे थे। उनका बॉडी लैंग्वेज इस ओर इशारा कर रहा था कि संगठन के फैसले से वह खुश नहीं हैं।