Bihar Election: ये हैं बिहार की धाकड़ वूमेनियां.. यहां बेटियां-बहुएं बन रहीं पॉलिटिक्स की ‘क्वीन’

New Delhi: बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) को लेकर सियासी घमासान जोरों पर है। चाहे सत्ताधारी NDA गठबंधन हो या फिर विपक्षी दलों का महागठबंधन, दोनों ही खेमे की कोशिश इस चुनाव में शानदार प्रदर्शन की है।

ऐसे में सभी पार्टियों की कोशिश ऐसे उम्मीदवार पर दांव खेलने की है, जिनके जीतने की उम्मीद सबसे ज्यादा हो। इसी को लेकर सियासी दल एक-एक सीट पर माथापच्ची कर रहे हैं। यही नहीं, इस बार के बिहार चुनाव (Bihar Election 2020) में एक नया ट्रेंड भी देखने को मिल रहा है। जिसमें दिग्गज नेताओं के बाद अब उनकी राजनीतिक विरासत को बेटे या फिर पत्नी की जगह बेटियां और बहुएं संभालने के लिए आगे बढ़ती नजर आ रही हैं।

अब बेटियों-बहुओं के नाम हो रही राजनीतिक विरासत

सियासत में परिवारवाद कोई नया नहीं है, अकसर देखने को मिलता है कि दिग्गज नेताओं के बाद उनके बेटे या फिर पत्नी दावेदारी करते नजर आते हैं। हालांकि, बिहार चुनाव में इस बार बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है, जहां बेटियों और बहुओं को ने भी इस जिम्मेदारी को संभालने का फैसला लिया है।

ऐसी कई सीटें हैं जहां से उन्होंने दावेदारी की है। इस सबसे ताजा उदाहरण पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय दिग्विजय सिंह की बेटी श्रेयसी सिंह हैं। इनके अलावा भी कई नाम हैं जो इस चुनाव में दावेदारी करती हुई नजर आएंगी, देखिए इस लिस्ट में कौन-कौन हैं शामिल…

बीजेपी के टिकट पर उम्मीदवारी कर रही हैं श्रेयसी सिंह

श्रेयसी सिंह नेशनल शूटर रही हैं और कॉमनवेल्थ गेम्स में देश के लिए स्वर्ण पदक भी जीता था। लेकिन अब उन्होंने निशानेबाजी के बाद सीधे राजनीति में एंट्री की है। उन्होंने हाल ही में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है और पार्टी ने उन्हें जमुई विधानसभा सीट से अपना उम्मीदवार भी घोषित कर दिया है। पिता के निधन के बाद श्रेयसी की मां पुतुल सिंह भी राजनीति में उतरीं और सांसद रही हैं।

जयप्रकाश नारायण यादव की बेटी दिव्या प्रकाश को आरजेडी ने दिया टिकट

बेटी को राजनीतिक विरासत सौंपने वालों में बिहार सरकार के पूर्व मंत्री जयप्रकाश नारायण यादव का भी नाम है। आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के करीबी नेता जयप्रकाश नारायण यादव की बेटी दिव्या प्रकाश इस चुनाव में आरजेडी के टिकट पर तारापुर सीट से उम्मीदवारी करेंगी। दिव्या प्रकाश का कहना है कि वो पिता की राह पर चलते हुए तारापुर के लोगों की सेवा करेंगी। उनका मुख्य फोकस महिला सशक्तिकरण और विकास कार्यों पर रहेगा।

पूर्व सांसद कमला मिश्र मधुकर की बेटी शालिनी मिश्रा जेडीयू से लड़ने जा रही चुनाव

सीपीआई के दिग्गज नेता और पूर्व सांसद स्वर्गीय कमला मिश्र मधुकर की बेटी शालिनी मिश्रा भी अपने पिता की राह पर चलते हुए राजनीति में एंट्री की है। शालिनी मिश्रा को जेडीयू ने पूर्वी चंपारण की केसरिया विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है। जेडीयू में आने से पहले शालिनी ने सीपीआई की सदस्यता ली थी।

इसी साल फरवरी में उन्होंने सीपीआई का दामन छोड़ जेडीयू में चली गईं। शालिनी ने मार्केटिंग में एमबीए किया और कई कंपनियों में 20 से ज्यादा वर्षों तक काम भी किया है। उन्होंने बताया कि नीतीश कुमार से प्रभावित होकर उन्होंने जेडीयू की सदस्यता ग्रहण की।

दिग्गज नेता सोनेलाल हेम्ब्रम की बहू डॉ. निक्की हेम्ब्रम बीजेपी से हैं उम्मीदवार

बिहार चुनाव में बेटियों के साथ-साथ बहुओं पर भी विश्वास जताया गया है। डॉक्टर निक्की हेम्ब्रम का नाम सबसे अहम है। उनको बीजेपी ने कटोरिया विधानसभा सीट से पार्टी का उम्मीदवार बनाया है। 2015 में निक्की हेम्ब्रम के ससुर सोनेलाल हेम्ब्रम की तबीयत बिगड़ने के बाद बीजेपी ने निक्की हेम्ब्रम को टिकट दिया। हालांकि, उस चुनाव में आरजेडी उम्मीदवार स्वीटी सीमा हेम्ब्रम से उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। निक्की हेम्ब्रम कटोरिया पूर्वी सीट से जिला परिषद की सदस्य भी रही हैं।

मंत्री कपिलदेव कामत की बहू मीणा कामत को बीजेपी ने दिया टिकट

बिहार सरकार में मंत्री कपिलदेव कामत की जगह उनके छोटे बेटे की पत्नी मीणा कामत को जेडीयू की उम्मीदवार हैं। बाबूबरही सीट से उन्हें टिकट दिया गया है। मीणा कामत पोस्ट ग्रेजुएट हैं और जिला परिषद की सदस्य भी रही हैं। कपिलदेव कामत 2005 में पहली विधायक बने थे। हालांकि, स्वास्थ्य की वजह से इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं ऐसे में उनकी बहू को जेडीयू ने उम्मीदवार बनाया है।

कांग्रेस के टिकट पर नीतू सिंह कर रही हैं हिसुआ सीट से दावेदारी

बिहार सरकार के पूर्व मंत्री स्वर्गीय आदित्य सिंह की बहू नीतू सिंह बिहार चुनाव में दावेदारी करने जा रही हैं। वो हिसुआ विधानसभा सीट से कांग्रेस पार्टी से चुनाव मैदान में उतर रही हैं। नीतू के पति शेखर सिंह उर्फ पप्पू सिंह की छवि दबंग के तौर पर रही है। नीतू सिंह समाज सेवा में काफी सक्रिय रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *