Bharat Bandh: केजरीवाल नजरबंद हैं या नहीं? घर के बाहर जबरदस्त ड्रामा, पुलिस से भिड़े सिसोदिया

Webvarta Desk: आम आदमी पार्टी (Aam Admi Party) ने मंगलवार को आरोप लगाया कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को किसानों के भारत बंद (Bharat Bandh) में शामिल होने से रोकने के लिए केंद्र सरकार के इशारे पर दिल्ली पुलिस ने हाउस अरेस्ट कर रखा है।

AAP ने आरोप लगाया कि किसी को केजरीवाल (Arvind Kejriwal) से मिलने नहीं दिया जा रहा है। हालांकि दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने इस आरोप का खंडन किया है। लेकिन केजरीवाल के आवास पर पहुंचे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने साफ कहा कि उन्हें भी सीएम से मिलने नहीं दिया जा रहा है। इस दौरान सिसोदिया की पुलिस अफसरों से जमकर बहस भी हुई। वह कार्यकर्ताओं सहित धरने पर भी बैठे।

आप का आरोप, केजरीवाल को कर दिया है नजरबंद

AAP ने ट्वीट कर कहा, ‘दिल्ली पुलिस ने सीएम अरविंद केजरीवाल को सिंधु बॉर्डर से आने बाद से ही घर में नजरबंद कर दिया है।’ पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, ‘जब से केजरीवाल सिंधु बॉर्डर से किसानों से मिलकर लौटे हैं तब से उन्हें घर में नजरबंद कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस ने केजरीवाल के घर के चारों तरफ बैरीकेड लगा दिया है। गृह मंत्रालय के आदेश के बाद उनको नजरबंद वाली स्थिति में रखा गया है।’

आप का दावा, विधायकों को पुलिस ने पीटा

भारद्वाज ने कहा कि न किसी को केजरीवाल के घर के अंदर जाने दिया जा रहा है न किसी को बाहर। जिन विधायकों की कल सीएम केजरीवाल के साथ बैठक थी उनकी पुलिस ने पिटाई की है। कार्यकर्ताओं को भी मिलने नहीं दिया जा रहा है। बीजेपी नेता सीएम के घर के बाहर बैठे हुए हैं।

किसानों से कहा था, हम आपके सेवादार

बता दें कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को हरियाणा-दिल्ली सीमा पर स्थित सिंधु बॉर्डर पर अपनी पूरी कैबिनेट के साथ किसानों से मिलने पहुंचे थे। केजरीवाल के साथ डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया भी किसानों को आश्वासन दे रहे थे। केजरीवाल ने किसानों से मुलाकात कर वहां की सुविधाओं का जायजा लिया और किसानों से कहा कि उनकी सरकार किसानों की सेवादार है।

केजरीवाल ने किसान आंदोलन का किया समर्थन

उन्होंने कहा, ‘किसानों का मुद्दा और उनकी मांग जायज है। मैं और मेरी पार्टी उनके साथ खड़े हैं। किसानों का आंदोलन शुरू होने के वक्त दिल्ली पुलिस ने हमसे 9 स्टेडियम को जेल में बदलने की इजाजत मांगी थी। मेरे ऊपर दबाव बनाया था लेकिन मैंने अनुमति नहीं दी।’