बलिया कांड: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया मुख्य आरो’पी धीरेंद्र सिंह

New Delhi: बलिया (Balia News) दुर्जनपुर गांव में गो’लीकां’ड के मुख्य आरो’पी धीरेंद्र सिंह (Dhirendra Singh) को 14 दिन के लिए जेल भेज दिया गया।

धीरेंद्र प्रताप (Dhirendra Singh) को आज सुबह ही बलिया जिला कोर्ट में पेश किया गया था जहां चीफ जूडिशल मैजिस्ट्रेट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का फैसला सुनाया। यूपी एसटीएफ धीरेंद्र सिंह को रविवार को लखनऊ से गिर’फ्तार किया था।

बलिया (Balia News) के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गोली कांड के मुख्य अभियुक्त धीरेंद्र प्रताप सिंह को पुलिस कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह 10 बजे जिला न्यायालय लेकर आई थी, जहां उसे CJM के सामने पेश किया गया। सीजेएम ने उसे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत पर जेल भेज दिया। इस बीच पुलिस कभी भी उसे रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में अर्जी दी सकती है।

इससे पहले धीरेंद्र (Dhirendra Singh) को मेडिकल जांच के बाद बलिया पुलिस थाने वापस लाया गया था। यहां से उसे कोर्ट ले जाया गया। यूपी एसटीएफ ने घटना के तीन दिन बाद लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क से धीरेंद्र सिंह डब्ल्यू को रविवार सुबह गिर’फ्तार किया था। बता दें कि धीरेंद्र घटना के बाद से ही फरार चल रहा था। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। धीरेंद्र सिंह ने विडियो जारी कर खुद को बेगुनाह बताया था।

परिवार ने की सीबीआई जांच की मांग

धीरेंद्र सिंह की तलाश में पुलिस की 10 टीमें जुटी थीं। पुलिस का कहना है कि आरो’पियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून और गैं’गस्ट’र ऐक्ट के तहत कार्रवा’ई की जाएगी। रविवार को धीरेंद्र के साथ दो और आरो’पियों को धरा गया है। धीरेंद्र सिंह के बाद अब तक इस केस में कुल 5 लोगों की गि’रफ्ता’री हुई है। इधर, धीरेंद्र के परिवार ने मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।

क्या है पूरा मामला?

बलिया जिले के रेवती क्षेत्र के ग्राम सभा दुर्जनपुर और हनुमानगंज की दो दुकानों के आवंटन के लिए गुरुवार दोपहर में पंचायत भवन में खुली बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में एसडीएम बैरिया सुरेश पाल, सीओ बैरिया चंद्रकेश सिंह, बीडीओ बैरिया गजेन्द्र प्रताप सिंह के साथ ही रेवती थाने की पुलिस फोर्स मौजूद थी। बैठक के दौरान दुर्जनपुर की दुकान पर सहमति नहीं बनी। बाद में वोटिंग कराने का निर्णय हुआ तो हंगामा शुरू हो गया।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हंगामा होते ही अधिकारियों ने बैठक स्थगित कर दी और जाने लगे। हालांकि इस दौरान पुलिस भी मौके पर मौजूद थी। बैठक स्थगित होने के बाद दोनों पक्षों में मा’रपी’ट शुरू हो गई। मा’रपी’ट के दौरान एक पक्ष के पूर्व फौजी धीरेंद्र प्रताप सिंह ने गोली चला दी जिससे दूसरे पक्ष के जयप्रकाश उर्फ गामा पाल (46)निवासी दुर्जनपुर घा’यल हो गए। बताया जा रहा है कि जयप्रकाश को चार गो’ली लगी थी और उनकी मौ’त हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *