बाबरी मस्जिद: इकबाल अंसारी की कोर्ट से अपील- आडवाणी, जोशी, कल्याण सबको माफ कर खत्म करें मामला

New Delhi: अयोध्या में वि’वा’दित ढांचा गिराए जाने के मामले में फैसले से दो सप्ताह पहले बाबरी मस्जिद केस (Babri Masjid Case) के मुद्दई इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने CBI की स्पेशल कोर्ट से सभी आरोपियों को दो’षमु’क्त करार देने की अपील की है।

अंसारी (Iqbal Ansari) ने लालकृष्ण आडवाणी (LK Advani), मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi), कल्याण सिंह (Kalyan Singh) सहित सभी 48 आ’रोपि’यों को निर्दो’ष ठहराने की अपील करते हुए इस पूरे मामले को समाप्त करने का अनुरोध किया है।

इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने एक चैनल के साथ बातचीत में कहा, ‘बाबरी मस्जिद वि’ध्वं’स केस में आरोपियों में से कई लोगों की मौ’त हो चुकी है। जो जिंदा भी हैं, वे अब बूढ़े हो चुके हैं। मैं चाहता हूं कि सभी केस हटा दिए जाएं और इस पूरे मसले को खत्म किया जाए। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद वैसे भी कोई वि’वा’द नहीं बाकी है।’

28 साल पुराने इस मामले में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, साक्षी महाराज, साध्वी रितंभरा, विश्व हिंदू परिषद नेता चंपत राय सहित 32 आरो’पी हैं।

‘सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद खत्म हुआ वि’वा’द’

हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल (Iqbal Ansari) ने साथ ही देश के सामाजिक ताने-बाने को मजबूत करने के लिए हिंदू और मुस्लिमों को आपसी सौहार्द के साथ रहने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के बाद कई सालों से चले आ रहे वि’वा’द का अंत हो गया और अब राम मंदिर का निर्माण भी शुरू हो चुका है। बता दें कि अयोध्या में वि’वादि’त ढांचा विध्वंस मामले में विशेष CBI अदालत ने सभी पक्षों की दलीलें, गवाही, जिरह सुनने के बाद 1 सितंबर को मामले की सुनवाई पूरी कर ली।

30 सितंबर को आएगा बाबरी केस में फैसला

अयोध्या में बाबरी वि’ध्वं’स केस (Babri Masjid Case) में सीबीआई की विशेष अदालत 30 सितंबर को फैसला सुनाएगी। CBI की कोर्ट ने आदेश जारी कर सभी आरो’पि’यों को फैसले के दिन कोर्ट में मौजूद रहने को कहा है। कोर्ट की तरफ से BJP के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी समेत अन्य आरोपियों को नोटिस भेजा है। गौरतलब है कि अयोध्या में वि’वादि’त ढांचे को कारसेवकों ने 6 दिसंबर 1992 में ढहाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *