आजम खान पर शिकंजा, गमछा डालकर छापा.. DM आंजनेय ने बदल दिया रामपुर का मिजाज

New Delhi: नवाबों का शहर रामपुर (Rampur News) आजम खान (Azam Khan) की वजह से चर्चा में रहता है। एसपी के कद्दावर नेता आजम लंबे अरसे से सीतापुर जेल में सपरिवार कैद हैं। लेकिन इन दिनों रामपुर की फिजाओं में एक और नाम गूंज रहा है।

गले में गमछा ओर पैर में हवाई चप्पल, पूरी तरह किसान का लुक। धान खरीद केंद्र पर अनूठी छापेमारी को लेकर रामपुर के डीएम आंजनेय कुमार सिंह (DM Aunjaneya Kumar Singh) चर्चा में हैं। इस डीएम ने नवाब सिटी रामपुर का मिजाज बदल दिया है। आइए जानते हैं डीएम आंजनेय का रामपुर में कैसा रहा है सफर…

आजम खान (Azam Khan) को भूमाफिया घोषित करना, जौहर यूनिवर्सिटी की दीवार तोड़कर किसानों को उनकी जमीनों पर जाने का रास्ता देना, आजम की पत्नी तंजीन फातिमा के हमसफर रिजॉर्ट की दीवार तोड़कर सरकारी जमीन से कब्जा हटवाना। ये कुछ ऐसे मामले रहे हैं, जिनको लेकर डीएम आंजनेय कुमार सिंह (DM Aunjaneya Kumar Singh) चर्चित रहे।

इसके साथ-साथ उन्हें जनहित में नए-नए प्रयोग के लिए भी जाना जाता है। हाल ही में कोरोना जैसी आपदा से निपटने के लिए उन्हें अकेले ही बाइक से घूमते कई बार देखा गया। इस दौरान पुलिस और प्रशासनिक टीमों की ग्राउंड रिऐलिटी जानने पर लापरवाही को लेकर सख्त ऐक्शन भी लिया तो अच्छे काम पर वाहवाही भी की।

कोरोना आपदा में महिलाओं के लिए विशेष हेल्पलाइन बनाकर लॉकडाउन में भी उन्होंने काफी मदद की थी। यहां तक कि रात के अंधेरों में भी वह काम करते नजर आते रहे हैं। रामपुर में पुरानी परंपरा को जिंदा करने, पुराने पारंपरिक उद्योग जैसे रामपुरी चाकू, वाइलेन, हैंडीक्राफ्ट को बढ़ावा देकर लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए भी डीएम रामपुर ने पहल की है।

डीएम आंजनेय कुमार सिंह ने बताया कि सबसे पहले जो शासन की योजनाएं हैं, उनको हम सही से लागू कर दें तो इससे बड़ा बदलाव आ जाएगा। एनबीटी ऑनलाइन को उन्होंने बताया, ‘जनता तक पहुंच को बार-बार बाधित किया जाता है। इसके लिए हमें उनतक पहुंचना जरूरी है। उनकी शिकायतों को वेरिफाई करना जरूरी है। साथ ही फील्ड में जाना जरूरी है। मैं खुद भी जाता हूं और सीडीओ, एडीएम सब को भेजता भी हूं। साथ ही फीडबैक भी लेता रहता हूं।’

क्राइम से रोजगार की ओर विशेष पहल

डीएम आंजनेय कुमार सिंह ने रामपुर में कई अनूठी पहल की है। डीएम ने उन खास इलाकों को चिन्हित किया है, जहां ज्यादा हिस्ट्रीशीटर हैं या अवैध काम में शामिल थे। लॉकडाउन से पहले यहां डीएम ने जनसंपर्क करते हुए अपराध के नुकसान बताए और सही दिशा में काम करने के लिए ऐसे लोगों को जागरूक और प्रेरित किया। इस विशेष पहल से कई लोग नए नए व्यापार करने के लिए प्रोत्साहित भी हुए।

राशन कार्ड-विधवा पेंशन का फर्जीवाड़ा पकड़ा

डीएम ने एक मुहिम चलाकर 5 हजार फर्जी राशन कार्ड पकड़े। ये राशन कार्ड अपात्र लोगों के नाम पर बने थे। फर्जीवाड़ा पकड़ में आने के बाद इन सभी के नाम काटे गए। इसके अलावा डीएम ने जिले में फर्जी विधवा पेंशन के आठ हजार मामले भी पकड़े हैं। रामपुर के ग्रामीण इलाकों में 112 खेल के मैदान भी बने हैं, जिनमें 8 में ओपन जिम है।

रामपुर में पब्लिक के सहयोग से दो नए स्कूल बनाए हैं। इन सबके पीछे भी डीएम का विजन काम कर रहा है। महिला सहायता समूह और संस्थाओं को रोजगार उपलब्ध कराते हुए बेस्ट क्वॉलिटी की तीन लाख ड्रेस बनवाई गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *