राम मंदिर में 1000 वर्ष तक सुरक्षित रहेंगे रामलला.. आंधी, तूफान भी नहीं पहुंचा पाएंगे कोई नुकसान

New Delhi: श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Sree Ram Mandir Trust) के महासचिव चंपत राय (Champat Rai) ने कहा कि अयोध्या (Ayodhya Ram Mandir) में ऐसा भव्य राम मंदिर बनेगा, जिसमें रामलला एक हजार वर्ष तक सुरक्षित रहेंगे। फिलहाल रामलला मंदिर (Ram Lala Temple) की नींव की ड्राइंग बनकर तैयार है। निर्माण के लिए एलएनटी कंपनी तैयार है।

चंपत राय (Champat Rai) ने यहां बताया कि अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर (Ayodhya Ram Mandir) के निर्माण का काम चंद रोज में शुरू हो जाएगा। राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir Nirman) कार्य के बारे में जानकारी देते हुए राय ने बताया कि अब तकनीकी काम है। यह मंदिर 1000 साल तक इस सृष्टि के आंधी-तूफान को सहता रहेगा। इसलिए निर्माण में उसी तरह की तकनीकी का इस्तेमाल भी होगा।

नक्शा पास कराने के बाद होगा निर्माण

उन्होंने (Champat Rai) कहा कि लार्सन टूब्रो के लोग नींव की ड्राइंग तैयार करने आए थे। निर्माण (Ram Mandir Nirman) में लोहे का प्रयोग नहीं होगा। अयोध्या विकास प्राधिकरण से 70 एकड़ भूमि में जितना निर्माण हो सकता है, उसका नक्शा पास होगा। राय ने कहा कि निर्माण कंपनी ने अभी तक ट्रस्ट के सामने ड्राइंग पेश नहीं की है। ड्राइंग देखने के बाद नींव खोदाई और उसको भरने का कार्य शुरू होगा।

मंदिर (Ayodhya Ram Mandir) की नींव दो सौ फीट नीचे होगी। इस मंदिर की नींव में लोहे का प्रयोग नहीं होगा। इसकी नींव की खुदाई में जो भी कुछ मिलेगा, उसके लिए ट्रस्ट सतर्क रहेगा। ट्रस्ट अब विकास प्राधिकरण से यहां के संपूर्ण 70 एकड़ क्षेत्र का नक्शा पास कराएगा।

30 करोड़ रुपए चंदा आया

चंपत राय (Champat Rai) ने कहा, ‘रामलला की जन्मभूमि पर बड़ी संख्या में प्राचीन अवशेष मिलने की उम्मीद है। हम उसको सहेज के रखेंगे।’ उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए बड़ी संख्या में दानदाता सामने आ रहे हैं। जब राम जन्मभूमि परिसर की जिम्मेदारी ट्रस्ट को सौंपी गई थी, तो रामलला के पास मात्र 12 करोड़ रुपये की जमा पूंजी थी। अब यह 30 करोड़ के करीब पहुंच गई है। शिला-पूजन के दिन रामलला को 49,000 रुपये का दान मिला था। राय ने स्पष्ट रूप से कहा कि अभी विदेशों से दान नहीं लिया जाएगा।

मोरारी बापू के सहयोग से मिले 11 करोड़

उन्होंने (Champat Rai) यह भी बताया कि शिवसेना की पर्ची मिली है और एक करोड़ रुपये आ गए हैं, जो उद्धव ठाकरे के सहयोग से आए हैं और पैसा भेजने का वादा भी उन्होंने किया है। चंपत राय ने कहा कि मोरारी बापू के सहयोग से 4 दिन में 11 करोड़ रुपये ट्रस्ट में आए। गुजरात के एक बनवासी संत हैं, उन्होंने 51 लाख रुपये देने की बात कही है और 11 लाख रुपये 5 तारीख को दे भी दिए हैं।

उन्होंने (Champat Rai) कहा कि जगत गुरु रामभद्राचार्य ने भी एक करोड़ 51 लाख रुपये लिख लेने को कह दिया है, अभी प्राप्त नहीं हुआ है। बाबा रामदेव ने कितना दिया? यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा बाबा रामदेव हमारे घर के हैं, हमने अभी उनसे मांगा नहीं है, जल्द मांगेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *