सचिन पायलट पर भड़के अशोक गहलोत- सरकार गिराने में लगे थे, मेरे पास सबूत

New Delhi: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिन पायलट (Ashok Gehlot on Sachin Pilot) और उनके समर्थकों की बगावत को लेकर बुधवार को जमकर भड़ास निकाली।

उन्होंने (Ashok Gehlot on Sachin Pilot) मीडिया के सामने कहा कि 20 करोड़ का सौदा किया जा रहा था। उनके पास प्रूफ है। वो षडयंत्र के पार्ट थे, सचिन पायलट ही लीड कर रहे थे। और पूछ रहे थे नाम बताओं, मोबाइल नंबर दो?

उन्होंने (Ashok Gehlot on Sachin Pilot) कहा कि अच्छी इंग्लिश बोलना, स्माइल देना ये काफी नहीं है। देश में हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है, ये देश का बर्बाद करेंगे? क्या मीडिया को दिखता नहीं है क्या? इस मौके पर उन्होंने कुछ मीडिया के लोगों की भी आलोचना की। उन्होंने कहा ‘सोने की छुरी पेट में खाने के लिए नहीं होती है’।

अशोक गहलोत की वो दस बातें…
  1. हमारे कुछ साथी बीजेपी के जाल में फंस करे अति महत्वकांक्षी बनकर हॉर्स ट्रेडिंग कर रहे थे। ऐसे उनके दलाल लोग थे, जिन्होंने ये काम किया, ऑफर कर रहे थे पैसा, हमारे पास प्रूफ है।
  2. राजनीति में लड़ाई होती है विचारधारा की, पार्टी में कोई व्यक्ति आए-जाए, कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन आज केंद्र में सत्ताधारी बीजेपी के साथ मिलकर हॉर्स ट्रेडिंग कर रहे हैं।
  3. लोकतंत्र को खत्म करने वाले दिल्ली में बैठे हैं।
  4. इस देश का मीडिया क्या सुनना चाहता है, इनको कांग्रेस से और गांधी परिवार से व्यक्तिगत नाराजगी है अपने दिल में रखें वो। जिस देश में डेमोक्रेसी खत्म करने की साजिश की जा रही है, मीडिया चौथा स्तम्भ कहलाता है, क्या उसकी ड्यूटी नहीं है कि आवाज उठाए।
  5. ऐसे-ऐसे मीडियो के लोग बैठे हैं देश में, केंद्र सरकार से बीजेपी से फाइनेंस होते, मिलीभगत करते हैं, नई पीढ़ी के लड़का-लड़की हैं, उन्हें चाहिए देश के हित में डेमोक्रेसी किसी कीमत पर खत्म न हो। यंग पीढ़ी के एंकर तमाम लोग एकतरफा खबरें चला रहे हैं।
  6. हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है देश में। लाखों-करोड़ों रुपए बंट रहे हैं। परसों के रोज डीलिंग की जा रही थी जयपुर में। हमारें पास खबर है, हमारे पास प्रूफ है। 20 करोड़ का सौदा किया जा रहा था।
  7. एसओजी ने आपको नोटिस दे दिया, मुझे नोटिस दिया है एसओजी ने। हमने, कांग्रेस ने शिकायत की थी एसओजी से की हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है बीजेपी की तरफ से। 10 दिन तक हमें लोगों को होटल में रखना पड़ा, मुझे अच्छा लगा क्या?
  8. अब जो हुआ मानेसर, गुरुग्राम वाला खेल वो उस समय होने वाला था, रात को दो बजे इन्हें रवाना किया जा रहा था। सफाई वो ही लोग दे रहे थे जो षडयंत्र में शामिल थे। हमारे यहां पीसीसी चीफ, उप मुख्यमंत्री मुझ से डील कर रहे थे, मोबाइल नंबर दीजिए, नाम दीजिए। षडयंत्र में शामिल थे और वो सफाई दे रहे थे। जो खुद षडयंत्र में शामिल है वो सफाई दे रहे हैं। क्या ये चौथे स्तम्भ की जिम्मेदारी नहीं है?
  9. नई पीढ़ी जो आई है, हम उन्हें प्यार करते हैं। आने वाला कल उनका है। जो ये कहते हैं कि हम पसंद नहीं करते ये गलत है। राहुल गांधी, सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी, अशोक गहलोत पसंद करते हैं। गवाह है, जब हमारी मीटिंग होती है तो मैं यूथ कांग्रेस के लिए एनएसयूआई के लिए लड़ाई लड़ता हूं।
  10. अच्छा इंग्लिश-हिंदी बोलना, अच्छी बाइट देना, वो सबकुछ नहीं होता। आपके दिल में क्या है देश कि लिए, आपका कमिटमेंट क्या है? आपकी पार्टी की विचारधारा आपका कमिटमेंट देख जाता है। सोने की छुरी पेट में खाने के लिए नहीं होती है, समझ जाओ।

इससे पहले मंगलवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय महासचिव और राजस्थान के पार्टी प्रभारी अविनाश पांडे ने मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी की कार्यकारिणी, समस्त विभागों, प्रकोष्ठ को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया।

इसी के साथ पांडे ने एक बयान में जारी करते हुए राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नये अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा की नियुक्ति के साथ नई प्रदेश कार्यकारिणी, विभागों और प्रकोष्ठों का फिर से गठन करने का ऐलान किया है। उधर, अशोक गहलोत ने मंगलवार को राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात कर सचिन पायलट और उनके समर्थित मंत्री, विधायकों के खिलाफ की गई सख्त कार्रवाई से अवगत कराया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *