Amethi young man dies in Tanzania

दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया में अमेठी के युवक की मौत, परिजनों ने स्मृति ईरानी से लगाई गुहार

राम मिश्रा,अमेठी: अमेठी स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी के रहने वाले एक युवक की दक्षिण अफ्रीका के तंजिया में मलेरिया बीमारी से मौत हो गई। युवक की मौत के बाद बेटे के शव को वापस लाने के लिए बेबस पिता और परिजनों ने अमेठी सांसद स्मृति ईरानी को पूरे मामले से अवगत कराते हुए बेटे के शव को वापस लाने की अपील की है। फिलहाल परिजनों को उम्मीद है कि इस लाकडाउन के बाद भी स्मृति ईरानी और सरकार परिजनों की अपील को सुनेगी और उनके बेटे का शव जल्दी वापस आएगा।
दरअसल मामला अमेठी कोतवाली क्षेत्र के कोरारी गिरधर शाह गांव से जुड़ा है जहां के रहने वाले अभय राज सिंह की मौत दक्षिण अफ्रीका के तंजिया  में मलेरिया बीमारी से हो गई लाकडाउन के बीच मौत के होने बाद अभयराज का पूरा परिवार दक्षिण अफ्रीका में ही फस गया। इसी बीच जब पूरे मामले की जानकारी परिवार को हुई तो इसी बीच परिवार ने अमेठी सांसद स्मृति को पूरे मामले से अवगत कराते हुए अपने बेटे के शव को वापस लाने की अपील की है।
वहीं पीड़ित के पिता रमेश चंद्र सिंह ने कहा कि मेरा बेटा दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया में फिजिकल का टीचर था और वहां स्कूल के स्टाफ से पता चला कि उसको मलेरिया हुआ है जिसके बाद अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया लेकिन आज सुबह जानकारी मिली कि मेरे बेटे की मौत हो गई है। जिसके बाद पीड़ित पिता ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर भरोसा जताते हुए उनसे गुहार लगाई है और कहा कि हमारी सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी हमारे बेटे के शव, बहू और छोटे पोते को अमेठी भिजवाने के कष्ट करेंगी। जिससे मेरा परिवार उनका आभारी रहेगा।
इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार से गुहार लगाते हुए कहा कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हमारे बेटे का शव और बहू पोते को अमेठी भिजवाएंगे ये हम लोगों को विश्वास है। इतना ही नहीं बेबस पिता ने कहा कि हमारी सांसद और देश की मोदी सरकार हमारे बेटे को कैसे भी करके अमेठी भिजवा दें क्योंकि इस समय देश संकट में है, और देश में कोरोना जैसी महामारी है लेकिन सरकार हमारी मदद जरूर करेगी और हमारे बेटे का शव और बहू को अमेठी भिजवाएगी।
लॉकडाउन में आज पूरा देश संकट में है लेकिन एक पिता होने के नाते मैं बेबस हूं और आज मैं अपने बच्चे का मुंह नहीं देख पा रहा हूं मेरी सरकार से विनती है कि सरकार हमारी मदद करें और किसी भी तरह से हमारे बेटे को अमेठी पहुंचाए। अपनी सांसद पर पूरा विश्वास है कि वो दुख इस की घड़ी में हमारे साथ खड़ी होंगी। वही पीड़ित की मां का रो-रोकर बुरा हाल है और पीड़ित की मां ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से गुहार लगाई और कहा कि उनके घर का लाडला आज इस दुनिया में नहीं है। ऐसे में उन्हें भरोसा सिर्फ केंद्रीय मंत्री और अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी पर है क्योंकि उनकी सांसद  उनके मृतक बेटे के साथ बहू और पोते को भी अमेठी जरूर भिजवाएंगी। पूरे परिवार में मातम पसरा हुआ है हर कोई परिवार के घर पहुंच रहा है।
अमेठी का ये बेबस रहने परिवार आज संकट के इस दौर से गुजर रहा है जहां इस परिवार की मदद के लिए हर कोई सामने आ रहा है और इस परिवार की किसी न किसी रूप में मदद करना चाहता है लेकिन इनके बेटे का शव सात समंदर पार है ऐसे में हर कोई इस परिवार के साथ सिर्फ बेबस नजर आ रहा है और बेबसी के आंसू बहा रहा है और पीड़ित परिवार के साथ गांव वाले अमेठी जिला प्रशासन से गुहार लगा रहें है।
गांव का हर शख्स अपने लाल का शव अमेठी मंगवाने की बात कर रहा है। मृतक की पत्नी और एक मासूम आज दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया शहर में बेबसी के आंसू बहा रहा है और वो भी अपनी सांसद और देश की मोदी सरकार की तरफ टकटकी लगाए उम्मीद भरी नजरों से देख रहा है कि भारत की सरकार उनकी मदद करेगी और उनके लाल का शव अमेठी भिजवायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *