अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में दिखाई योगी जी की फोटो, बोले- CM लाल टोपी से डरते क्यों हैं

Webvarta Desk: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) बुधवार को उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार पर जमकर बरसे।

उन्होंने (Akhilesh Yadav) आरोप लगाया कि सांविधानिक संस्थाओं का जितना नुकसान भाजपा सरकार (BJP Govt) ने किया उतना किसी ने नहीं किया। विधान सभा में सीएम योगी आदित्यनाथ के लाल टोपी (CM Yogi Red Cap Remark) पर दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए अखिलेश ने कहा कि लाल टोपी से सीएम क्यों डरते हैं? उनकी तो खुद भी लाल टोपी लगाए हुए कई तस्वीरें हैं।

यूपी विधानसभा में बुधवार को सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के संबोधन के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने पत्रकार वार्ता कर कहा कि यूपी सरकार केंद्र सरकार की ही नकल कर रही है। अब यहां भी बिना बहुमत के विधान परिषद से बिल पास करा लिए जाते हैं। मंगलवार को सभी एमएलसी विधान परिषद में धरने पर थे, लेकिन तब भी सारे बिल पास कर दिए, जबकि यहां के सदन में बहुमत विपक्ष का है।

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के विधान सभा में दिए गए भाषण के जवाब में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि इस सरकार को बसों के नंबर याद हैं मजदूर और गरीब याद नहीं आते। अखिलेश ने कहा कि तीनों कृषि कानून की खिलाफत समाजवादी पार्टी करती है और किसान भी लगातार विरोध कर रहे है। गन्ने का आज भी बकाया है। किसी भी किसान को एमएसपी नहीं मिली। जो बजट पेश किया गया है उसमें ये तो बता देते कहां स्मार्ट सिटी बनाई है। अपने ही संकल्प पत्र को भाजपा भूल गई है। जनता से किए गए वादे उसे याद नहीं है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार ने मेडिकल कॉलेज का बजट कम कर दिया। अब कैसे मेडिकल कॉलेज बनेंगे। वेंटिलेटर देने का दावा करते हैं, लेकिन जब हॉस्पिटल में इलाज मिलने लगा तब वेंटिलेटर पहुंचे। सरकार से हम पूछते हैं कि जो वेंटिलेटर आए थे वह कहां हैं। वो अभी भी डिब्बों में बंद हैं। स्कूली बच्चों को स्वेटर और जूते नहीं मिले। मिड डे मील नहीं मिल रहा है। जो दूध मिलता था वह भी बंद हो गया। सरकार यह बताए कि इन्वेस्टर मीट में जो एमओयू किये गए थे उसमें कितना निवेश आया।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि सदन में कह रहे हैं कि पटककर मारना चाहिए, ये सरकार के मुखिया की भाषा है। हम ऐसी भाषा का प्रयोग नहीं करते। लैपटॉप के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री को लैपटॉप चलाना नहीं आता है। अखिलेश ने कहा कि जब मैं सीएम का भाषण सुन रहा था, वो ऐसे जवाब दे रहे थे, जैसे पिछले चार साल में सरकार ने दायरे और मर्यादा में रहकर काम किया हो। इंस्टीट्यूशन का जितना नुकसान बीजेपी ने किया उतना किसी ने नहीं किया।