आर्य महिला इंटर कालेज में हुआ किशोर स्वास्थ्य मंच का आयोजन

Adolescent health

-अपर मुख्य अधिकारी ने कार्यक्रम का किया शुभारम्भ

-किशोर स्वास्थ्य मंच में सांस्कृतिक कार्यक्रम के अलावा विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित

शाहजहांपुर, 11 फरवरी (राम निवास शर्मा)। राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम (आर.के.एस.के) के अंतर्गत जनपद के सभी ब्लॉक एवं शहरी क्षेत्रो के इंटर कॉलेजों में किशोर स्वास्थ्य सम्बन्धी जन जागरूकता के लिए किशोर स्वास्थ्य मंच कार्यक्रम का आयोजन गुरूवार को जनपद के आर्य महिला इंटर कालेज में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजय अग्रवाल ने किया।

डा. चन्द्र रेखा प्रधानाचार्या ने बताया कि किशोर स्वास्थ्य मंच का आयोजन किशोरावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक एवं मानसिक बदलाव, नशा करने की आदतों का होना, गलत संगत एवं बुरी आदतों को रोकने के लिए और सभी को जागरूक करने के लिए किया गया है। इस कार्यक्रम में प्रश्नोत्तरी, चित्र आलेखन, स्पीच और मेंहदी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया ताकि जिनमें बहुत सी प्रतिभाएं छिपी हुई है उनको उभारने के साथ ही प्रोत्साहित किया जा सके।

इस अवसर पर डा. अग्रवाल ने बताया कि किशोर/किशोरी हमारे कल के भविष्य हैं। हमें इनको छात्र जीवन से ही हर तरह से जागरूक करने की आवश्यकता है। हमारी कुल आबादी का लगभग 20 प्रतिशत किशोर/किशोरी हैं जिनको सुरक्षित रखने के लिए शासन द्वारा राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम संचालित किया गया है।

इसके तहत किशोरावस्था के दौरान उनको जागरूक करने के लिए समय-समय पर विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाता है। इनमें किशोर स्वास्थ्य मंच एक महत्वपूर्ण गतिविधि है। इन गतिविधियों के दौरान किशोरों को नशा मुक्ति, एनीमिया, मानसिक रोग, यौन शिक्षा, प्रजन स्वास्थ्य, शारीरिक विकास एवं व्यक्तिगत साफ सफाई आदि के विषय में सही जानकारी दी जाती है। किशोर/किशोरियों में छिपी हुई प्रतिभाओं को उभारने का पूर्ण प्रयास किया जाता है।

कु.रुचिता वर्मा जिला समन्वयक राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम ने बताया कि इस कार्यक्रम के दौरान किशोरों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के साथ किशोरों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि किशोर स्वास्थ्य मंच के आयोजन के लिए शहरी क्षेत्र के अलावा जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में समस्त ब्लाकों के एक-एक इंटर कॉलेज/ माध्यमिक स्कूल (सरकारी अथवा गैर सरकारी) का चयन किया गया। स्कूल चयन में अधिक से अधिक छात्र /छात्रा संख्या वाले स्कूलों/कालेजों को प्राथमिकता दी गयी। जहाँ पर संबंधित प्राथमिक/सामुदायिक स्वास्थ्य टीम द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

संतोष कुमार सिंह डीआईईसी प्रबन्धक ने बताया कि कार्यक्रम में डा.असमा हिकमत खान चिकित्सा अधिकारी शहरी स्वास्थ्य केंद्र के द्वारा किशोरियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। रुपेश मिश्रा अर्श काउन्सलर द्वारा किशोरों का वजन और लम्बाई की माप की गयी साथ ही किशोरों को स्वास्थ्य संबंधी देखभाल के लिए विशेष जानकारी दी गयी। कार्यक्रम के दौरान गतिविधियों का हुआ आयोजन।

किशोर स्वास्थ्य मंच के अवसर पर उपस्थित सभी छात्राओं का बी.एम.आई. एवं हीमोग्लोबिन की जांच की गयी। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के सहयोग से अनेक पोषण स्रोत वाले खाद्य पदार्थो के स्टाल लगाए गए। उपस्थित छात्राओं को एनीमिया, आयरन की गोलियों के साप्ताहिक सेवन की जानकारी दी गयी और पोषण की महत्ता के बारे में जानकारी दी गयी। प्रतिभागियों को किशोरी सुरक्षा योजना विशेषकर मासिक धर्म स्वच्छता, तम्बाकू एवं अन्य मादक पदार्थो के सेवन से बचाव के लिए जानकारी दी गयी।

इसके साथ ही इससे होने वाले दुष्परिणामों की जानकारी दी गयी। छात्राओं के साथ एनीमिया, यौन शिक्षा एवं प्रजनन स्वास्थ्य तथा मानसिक स्वास्थ्य, खानपान, व्यक्तिगत साफ सफाई से सम्बंधित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, चित्र आलेखन एवं किशोर स्पीच प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में प्राची कक्षा 12 ने प्रथम स्थान, काजल पाण्डेय कक्षा 11 ने दूसरा स्थान और खुशी सक्सेना कक्षा 9 ने तृतीय स्थान प्राप्त किया है। सभी विजेताओं को प्रशस्ति पत्र एवं पुरस्कार तथा अन्य प्रतिभागियों को संत्वना पुरस्कार भी दिया गया है।

कार्यक्रम के दौरान कृष्णमोहन कनौजिया जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी, रुपेश मिश्रा अर्श काउन्सलर, महिला एवं बाल विकास विभाग की मुख्य सेविकाओं सहित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और कालेज के 100 छात्राओं ने प्रतिभाग किया।