‘दीदी’ के भतीजे अभिषेक बनर्जी का सवाल- क्या बंगाल को लूटकर भागने के लिए डबल इंजन चाहती है BJP?

Webvarta Desk: बंगाल के सियासी रण (West Bengal Election) में राजनेताओं के तीखी जुबानी जंग के बीच तृणमूल कांग्रेस (TMC) के वरिष्ठ नेता और सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) ने BJP पर निशाना साधा है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के भतीजे अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) ने कहा कि बीजेपी ‘दोहरे इंजन वाली सरकार’ (केंद्र और राज्य में एक ही पार्टी की सरकार) नारे देकर सार्वजनिक धन हड़पने के लिए यह व्यवस्था चाहता है।

तृणमूल की युवा शाखा के अध्यक्ष और डायमंड हॉर्बर सीट से सांसद बनर्जी (Abhishek Banerjee) ने यह भी दावा किया कि यह नारा इस बात को भी साबित करता है कि केंद्र में BJP के नेतृत्व वाली सरकार पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मदद नहीं कर रही है, क्योंकि वह राज्य में सत्ता में नहीं है।

‘बीजेपी ने बंगाल के लिए कुछ नहीं किया’

दरअसल, बीजेपी नेता यह तर्क देते हुए ‘दोहरे इंजन वाली सरकार’ के नारे लगा रहे हैं कि संभवत: अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत से पश्चिम बंगाल के विकास में तेजी आएगी, क्योंकि केंद्र में भी उसी की सरकार है।

जलपाईगुड़ी जिले के नगराकटा में एक रैली में टीएमसी सांसद ने कहा, ‘बीजेपी कह रही है कि वह राज्य में दोहरे इंजन वाली सरकार चाहती है। वे राज्य में दोहरे इंजन वाली सरकार क्यों चाहते हैं? ताकि वे आमजन का धन लूट सकें और बच निकलें। बीजेपी ने बंगाल के लिए कुछ नहीं किया, क्योंकि यहां दोहरे इंजन वाली सरकार नहीं है। यह बीजेपी सरकार का चरित्र है। वे गैर बीजेपी शासित राज्यों के लिए कुछ नहीं करते।’

आम आदमी को बेवकूफ बनाने की कोशिश

बनर्जी ने कहा कि बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में हर नागरिक को 15-15 लाख रुपये देने का वादा किया था, लेकिन लोगों को पिछले सात साल में एक भी पैसा नहीं मिला। अब वे (बीजेपी) राज्य के लोगों, किसानों को यह कहकर रिश्वत देने की कोशिश कर रहे हैं कि यदि वे सत्ता में आते हैं, तो उन्हें 18-18 हजार रुपए दिए जाएंगे। यह आम आदमी को बेवकूफ बनाने की एक और कोशिश है।

उन्होंने तृणमूल के नए चुनावी नारे- ‘बांग्ला निजेर मेयेकेई चाये’ (बंगाल अपनी बेटी को चाहता है)’ का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बंगाल की बेटी के रूप में पेश किया। टीएमसी नेता ने कहा, ‘हम दिल्ली में बैठे लोगों के आगे सभी सिर नहीं झुकाएंगे। बंगाल के लोग अपनी बेटी ममता बनर्जी पर पूरा भरोसा दिखाएंगे।’