Monday, January 25, 2021
Home > State Varta > नीतीश के शपथग्रहण से पहले बड़ी खबर, NDA की नई सरकार में नहीं दिखेंगे 12 पुराने चेहरे

नीतीश के शपथग्रहण से पहले बड़ी खबर, NDA की नई सरकार में नहीं दिखेंगे 12 पुराने चेहरे

New Delhi: नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण (Nitish Kumar Sapath News) से पहले दो बड़ी खबरें छनकर सामने आ रही है। पहली खबर ये कि इस बार की नई बिहार (Bihar News) सरकार (NDA Ministers Portfolio) में 12 पुराने चेहरे नहीं दिखेंगे।

जबकि दूसरी बड़ी खबर ये है कि शपथ लेने वाले नीतीश के नवरत्नों (JDU Ministers Portfolio) की लिस्ट भी राजभवन को भेज दी गई है। आइए जानते हैं कि किनकी छुट्टी हुई और किनको मिल रहा है नई सरकार (BJP Ministers Portfolio) का हिस्सा बनने का मौका।

ये 12 चेहरे नई सरकारका हिस्सा नहीं बनेंगे

जो 12 चेहरे नई सरकार का हिस्सा नहीं बनेंगे उनमें से दो का पूरे राज्य को अफसोस है। बीजेपी कोटे के पूर्व मंत्री विनोद सिंह और जेडीयू कोटे से पूर्व मंत्री कपिलदेव कामत, ये दोनों ही अब दुनिया में नहीं रहे। कोरोना के चलते दोनों का निधन हो चुका है। जबकि बाकी दस चुनाव हार गए हैं। इनमें JDU के 8 और BJP के 2 मंत्री शामिल हैं।

बीजेपी के सुरेश शर्मा और ब्रजकिशोर बिंद जबकि जेडीयू के कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, जयकुमार सिंह, शैलेश कुमार, लक्ष्मेश्वर राय, संतोष निराला, खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद, रमेश ऋषिदेव, रामसेवक सिंह विधानसभा चुनाव हार चुके हैं। ऐसे में इनके नई सरकार में दिखने की उम्मीद फिलहाल न के बराबर है।

राजभवन को भेजी गई नवरत्नों की लिस्ट

नीतीश कैबिनेट के नए मंत्रियों के चेहरे को लेकर JDU और BJP के आलाकमान के बीच देर रात तक माथापच्ची हुई। सीएम आवास में मौजूद BJP नेता रात भर कैबिनेट की नई शक्ल पर चर्चा करते रहे। फिलहाल सूत्रों से ये जानकारी मिली है कि आज के शपथ ग्रहण में जम्बो कैबिनेट शपथ नहीं लेने वाली।

नीतीश के साथ बीजेपी और जेडीयू के चंद विधायक ही मंत्री पद की शपथ लेंगे। सूत्र बता रहे हैं कि इन दोनों पार्टियों के साथ जीतन राम मांझी की HAM यानि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से किसी एक चेहरे को कैबिनेट में जगह दी जाएगी वहीं वीआईपी यानि विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी भी मंत्री के तौर पर शपथ ले सकते हैं।

सूत्रों के मुताबिक आज के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ जेडीयू के 2 से 3 और बीजेपी के भी इतने ही विधायकों को शपथ दिलाई जा सकती है। जबकि HAM और VIP से एक-एक चेहरा कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है। बिहार विधानसभा के वर्तमान फॉर्मेट के हिसाब से कैबिनेट में अधिकतम 36 मंत्री बनाए जा सकते हैं लेकिन आज के शपथ ग्रहण में ये संख्या कम रहेगी और बाद में कैबिनेट का विस्तार किया जाएगा।

बीजेपी के आग्रह पर सीएम बनना स्वीकार किया

बिहार में रविवार को नए सीएम के तौर पर नीतीश को औपचारिक रूप से चुन लिया गया। हालांकि उनके डिप्टी को लेकर सस्पेंस बन गया। पहले जेडीयू पार्टी के विधायकों ने नीतीश को अपना नेता चुना, उसके बाद एनडीए के विधायकों ने। इस तरह वह सीएम पद के लिए नामित हो गए। राज्यपाल से मिलकर उन्होंने सरकार बनाने का दावा भी पेश किया।

सोमवार यानि आज शाम 4 बजे नीतीश अपने सहयोगियों के साथ सातवीं बार बिहार के सीएम पद की शपथ लेंगे। नीतीश ने कहा कि मैं सीएम नहीं बनना चाहता था, लेकिन बीजेपी नेताओं के आग्रह और निर्देश के बाद मैंने पद स्वीकार किया है।

एनडीए के विधायकों की बैठक के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पर्यवेक्षक के रूप में पटना में मौजूद रहे। नीतीश का नाम आसानी से तय हो गया, वहीं यह भी तय हो गया कि बीजेपी के सुशील कुमार मोदी इस बार बिहार के डिप्टी सीएम नहीं होंगे। पार्टी उनकी जगह दो नए चेहरों को मौका दे सकती है।

डिप्टी सीएम नहीं बनने का संकेत खुद सुशील मोदी ने ट्वीट कर दिया। उन्होंने लिखा, ‘बीजेपी-संघ परिवार ने मुझे 40 वर्षों के राजनीतिक जीवन में इतना दिया कि शायद किसी दूसरे को नहीं मिला होगा। आगे जो भी जिम्मेदारी मिलेगी, उसे निभाऊंगा। कार्यकर्ता का पद तो कोई छीन नहीं सकता।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *