पंजाब क्रिकेट असोसिएशन की अपील- संन्यास से वापस आएं युवराज सिंह

New Delhi: भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने जून 2019 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया था। बाएं हाथ के इस स्टार बल्लेबाज ने भारत के लिए 40 टेस्ट, 304 वनडे इंटरनैशनल और 58 टी20 इंटरनैशनल मैच खेले।

वर्ल्ड कप 2019 (World Cup 2019) की वर्ल्ड कप टीम में युवराज (Yuvraj Singh) को नहीं चुना गया था और इसके बाद ही उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला किया। इसके बाद से वह विदेशों में लीग खेल रहे हैं। अब

पंजाब क्रिकेट असोसिएशन (Punjab Cricket Association) के सचिव पुनीत बाली (Punit Bali) से युवराज (Yuvraj Singh) से अपने संन्यास के फैसले पर पुनर्विचार करने को कहा है। ईएसपीएनक्रिकइंफो की खबर के मुताबिक बाली ने युवराज से इस बारे में सोचने को कहा है कि हालांकि युवराज ने अभी इस पर कोई जवाब नहीं दिया है।

पंजाब (Punjab Cricket Association) ने हाल ही में कई मार्की प्लेयर्स खोए हैं। ऐसे में उसे उम्मीद है कि युवराज के अनुभव की मदद से वह इन मुश्किल हालात से निकल सकता है। उन्हें लगता है कि युवराज टीम (Yuvraj Singh) का अच्छी तरह मार्गदर्शन कर सकते हैं। हालांकि युवराज के लिए वापसी आसान नहीं होगी उन्हें BCCI से इस पर अनुमति लेनी होगी।

हाल के वक्त में पंजाब (Punjab Cricket Association) से काफी खिलाड़ी बाहर गए। मनन वोहरा और बरिंदर सरन ने दो सीजन चंडीगढ़ के लिए क्वॉलिफाइ किया। इसके अलावा लोकल जीवनजोत सिंह और तरुवर कोहली भी क्रमश: छत्तीसगढ़ और मेघालय शिफ्ट हो गए।

बाली का कहना है, ‘ये युवा लड़के (शुभमन गिल, अनमोलप्रीत सिंह, अभिषेक सिंह आदि को युवराज ने उनकी ट्रेनिंग के दौरान करीब से देखा है) सीजन के लिए तैयार होने से पहले हमारे फिजियो और ट्रेनर्स के साथ काफी काम कर रहे थे। जब युवराज चंडीगढ़ में थे तो उन्होंने इन लड़कों के साथ भाग भी लिया था।’

बाली ने कहा, ‘पिछले कुछ सीजन्स से हमारे कुछ खिलाड़ी दूसरे राज्यों में चले गए हैं। कई खिलाड़ी चंडीगढ़, छत्तीसगढ़ और हिमाचल चले गए हैं। तो हमे लगता है कि युवराज के अनुभव और क्षमता वाला खिलाड़ी युवाओं को प्रेरित करने में बड़ी भूमिका निभा सकता है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *