165 रन, 17 चौके, 7 छक्के… पृथ्वी का फिर कमाल, अब कर्नाटक के खिलाफ शतक

Webvarta Desk: मुंबई के ओपनर पृथ्वी साव (Prithvi Shaw) का विजय हजारे ट्रोफी (Vijay Hazare Trophy) में कमाल का प्रदर्शन जारी है। उन्होंने गुरुवार को पालम के एयरफोर्स ग्राउंड कॉम्पलेक्स में कर्नाटक के खिलाफ मुकाबले में 165 रन की शानदार पारी खेली।

पृथ्वी (Prithvi Shaw) ने 122 गेंदों पर अपनी इस पारी में 17 चौके और 7 छक्के जड़े। कर्नाटक ने टॉस जीता और पहले फील्डिंग का फैसला किया। मुंबई टीम को पृथ्वी ने काफी मजबूती दी और तीसरे विकेट के लिए शम्स मुलानी के साथ 159 रन जोड़े।

मुंबई के ओपनर यशस्वी जायसवाल (6) कुछ खास नहीं कर सके जिसके बाद विकेटकीपर बल्लेबाज आदित्य तरे (16) को श्रेयस गोपाल ने पविलियन की राह दिखा दी। पृथ्वी एक छोर पर टिके रहे और उन्होंने शम्स मुलानी (45) के साथ तीसरे विकेट के लिए 159 रन की शतकीय पार्टनरशिप की। शम्स ने 71 गेंदों पर 4 चौकों की मदद से 45 रन बनाए। पृथ्वी (Prithvi Shaw) चौथे विकेट के तौर पर टीम के 243 के स्कोर पर आउट हुए।

करियर में अब तक 8 इंटरनैशनल मुकाबले खेल चुके पृथ्वी ने इससे पहले सौराष्ट्र के खिलाफ 9 मार्च को नाबाद 185 रन की पारी खेली थी। इसके अलावा उन्होंने जयपुर में पुडुचेरी के खिलाफ पिछले महीने नाबाद 227 रन ठोके थे।

21 वर्षीय दाएं हाथ के बल्लेबाज पृथ्वी ने इससे पहले लिस्ट-ए क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली का भी रेकॉर्ड तोड़ा था। पृथ्वी ने सौराष्ट्र के खिलाफ मंगलवार को 185 रन की पारी खेलते हुए लिस्ट-ए क्रिकेट में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ा निजी स्कोर बनाया।

उन्होंने 123 गेंदों पर 21 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 185 रन बनाए जो लिस्ट ए क्रिकेट में चेज करते हुए अब तक सर्वाधिक निजी स्कोर है। इससे पहले भारतीय टीम के पूर्व कप्तान धोनी ने साल 2005 में श्रीलंका के खिलाफ जयपुर में नाबाद 183 रन की पारी खेली थी। धोनी का ये रेकॉर्ड 10 साल तक कायम रहा। इसके बाद कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ ढाका में 183 रन की पारी खेल साल 2012 में इसे तोड़ा।