Wednesday , 29 January 2020
Fire-in-Australia

आस्ट्रेलिया के जंगलों में आग, मदद को आगे आये टेनिस और क्रिकेट सितारे

ऑस्ट्रेलिया के लिए चुनौती बनी जंगलों की आग

सिडनी, 03 जनवरी (वेबवार्ता)। आस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग से प्रभावितों की मदद के लिये निक किर्गियोस और क्रिस लिन की अगुवाई में टेनिस और क्रिकेट जगत के सितारे आगे आये हैं जिन्होने अपने हर ऐस या छक्के पर नकद मदद देने का ऐलान किया है। अभी तक आग में कम से कम 18 लोग मारे गए हैं। किर्गियोस ने इस सत्र में लगाये हर ऐस पर 140 डालर देने की घोषणा की है।

वहीं आस्ट्रेलिया की सामंथा स्टोसुर ने कहा, ‘‘मैं हर ऐस के लिये 250 डालर दूंगी क्योंकि मैं उतने ऐस लगा नहीं पाऊंगी जितने तुम लगाओगे।’’ एटीपी कप टूर्नामेंट के निदेशक टाम लार्नर ने कहा कि दस दिवसीय टूर्नामेंट में लगाये जाने वाले हर ऐस पर राहत कोष में सौ डालर दिये जायेंगे। वहीं आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच यहां शुरू हुए तीसरे टेस्ट में दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने इस आग मे मारे गए लोगों को श्रृद्धांजलि देने के लिये हाथ में काली पट्टी बांधी। लिन और ग्लेन मैक्सवेल ने बिग बैश टी20 टूर्नामेंट के दौरान हर छक्के पर 250 डालर देने की घोषणा की।

मौसम से आग हुई बेकाबू

तेज हवा और बढ़ी हुई गर्मी ने जंगलों में लगी आग को और विनाशकारी बना दिया है। सिडनी में मौजूद अधिकारियों ने लोगों को “आग के भयावह खतरे” से आगाह किया है। ऑस्ट्रेलिया में साल 2009 में जंगलों की आग को लेकर रेटिंग की शुरुआत हुई थी, इस बार पहली दफा अधिकारियों ने ‘भयावह’ रेटिंग दी है। इस चेतावनी के बाद न्यू साउथ वेल्स में बचाव का कार्य तेजी से किया जा रहा है, इसी के चलते राज्य के 600 से अधिक स्कूल बंद कर दिए गए हैं।  शुक्रवार से लगी आग के कारण अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है, हजारों लोग विस्थापित हुए हैं और 150 से अधिक घर जल कर खाक हो चुके हैं।

ऑस्ट्रेलिया में गर्मी के मौसम के दौरान जंगलों में आग आम बात है, लेकिन इस साल का प्रकोप खासतौर पर गंभीर है। इस साल न्यू साउथ वेल्स में दस लाख हेक्टेयर के जंगल और खेत जल कर खाक हो चुके हैं। पिछले साल के मुकाबले इस मौसम में इस बार तीन गुना बड़े इलाके में आग लगी है।

सुरक्षित ठिकानों पर जाने की सलाह

मंगलवार को न्यू साउथ वेल्स में तापमान 37 डिग्री सेल्सियस पहुंचने की आशंका है, अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने लोगों को इसके लिए चेतावनी दी है, और कहा कि हम इसके लिए तैयार हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि वे इससे अधिक और कुछ नहीं कर सकते हैं।

न्यू साउथ वेल्स के ग्रामीण दमकल विभाग के कमिश्नर शेन फिट्जसाइमंस ने कहा, “इस भयावह स्थिति में हम आग पर काबू नहीं पा सकते हैं, इस तरह की आग में क्षमता होती है कि वह बिना देर किए विकराल हो जाती है। यह समय फैसला लेना का है। यह समय यहां से सुरक्षित ठिकानों पर जाने का है। लोग यहां से सुरक्षित ठिकाने, सुरक्षित शहर, गांव या स्थानीय सामुदायिक केंद्र या फिर शॉपिंग मॉल में जाएं।”

देश के उत्तरी भाग में लगी आग का धुआं अब सिडनी तक पहुंच चुका है। वहां का आसमान धुएं से भरा हुआ है। 50 लाख की आबादी वाली सिडनी सूखे जंगलों से घिरी हुई है। वहीं ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने 2जीबी रेडियो से कहा, “फिलहाल यह तूफान के आने से पहले की शांति है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *