Asia Cup 2020: पाकिस्तान के हाथ से फिसली एशिया कप की मेजबानी? श्रीलंका ने ठोका दावा

New Delhi: एशिया कप-2020 (Asia Cup 2020) की मेजबानी पाकिस्तान के हाथ से फिसलती नजर आ रही है। श्रीलंका (Sri Lanka) ने दावा किया है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) इस बात से सहमत है कि टूर्नमेंट की मेजबानी (Sri Lanka To Host Asia Cup 2020) हम करें।

दरअसल, किलर महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से पाकिस्तान ने मेजबानी में असमर्थता जताई थी। बता दें कि एशिया क्रिकेट परिसंघ (एसीसी) के कार्यकारी बोर्ड ने सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक की। मुद्दा एशिया कप 2020 रहा जिसकी मेजबानी पाकिस्तान को करनी है।

बैठक में बीसीसीआई ने साफ कर दिया कि पाकिस्तान में खेलना संभव नहीं है और श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) के प्रमुख शम्मी सिल्वा ने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इस बात पर सहमत है कि श्रीलंका इस साल होने वाले इस टूर्नमेंट की मेजबानी करे।

सिल्वा ने कहा, ‘हमने पीसीबी से इस मामले पर बातचीत की और वो इस बात से सहमत हो गए कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए हम इसकी मेजबानी करें। एसीसी की ऑन लाइन मीटिंग हुई और उन्होंने हमें टूर्नमेंट की मेजबानी के लिए हरी झंडी दे दी।’

निर्णायक फैसला अभी नहीं

इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली और सचिव जय शाह ने किया। बैठक में इस साल पाकिस्तान में प्रस्तावित एशिया कप के भविष्य पर चर्चा की गई, हालांकि अंतिम फैसला नहीं लिया गया।

एसीसी ने अपने बयान में कहा, ‘इस बैठक में अहम मुद्दे एसीसी के इवेंट्स थे। बोर्ड ने खासकर एशिया कप-2020 को लेकर चर्चा की। कोविड-19 के प्रभाव और स्थिति को देखते हुए संभावित जगहों पर चर्चा की गई और यह तय किया गया कि अंतिम फैसला आने वाले समय में लिया जाएगा।’

बयान के मुताबिक, ‘बोर्ड ने साथ ही चीन के हांगझोऊ में होने वाले एशियाई खेलों में एसीसी की हिस्सेदारी को लेकर भी चर्चा की। बोर्ड ने एसीसी द्वारा की गई पहल को लेकर संतुष्टि जताई। इस बैठक की अध्यक्षता नजमुल हसन ने की और पहली बार इसमें सौरभ गांगुली और जय शाह ने हिस्सा लिया।’

इससे पहले, बीसीसीआई ने कहा था कि कोरोना वायरस को देखते हुए एशिया कप का सितंबर में होना मुश्किल लग रहा है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप को लेकर भी काले बादल मंडरा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *