शोएब मलिक ने PCB पर नेपोटिज्‍म का आरोप लगाया, कहा- करियर लगा है दांव पर

Shoaib-Malik

Webvarta Desk: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शोएब मलिक (shoaib malik) ने पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) पर बड़ा आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि पाकिस्‍तानी टीम सिलेक्शन में ‘नेपोटिज्म’ के आधार पर होता है न की प्रदर्श के आधार पर। सिस्टम में बैठे लोग जिसे चाहते थे वह टीम के अंदर था।

बता दें कि पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) पर भ्रष्‍टाचार, पक्षपात और अन्‍य कई आरोप लगते रहे हैं। पीसीबी ने हाल के कुछ सालों में सपोर्ट स्‍टाफ में भी काफी बदलाव किए, फिर भी टीम शीर्ष टीमों को चुनौती देने में कामयाब नहीं रह पाई है। मलिक का मानना है कि पाकिस्‍तान क्रिकेट (PCB) में बदलाव की जरूरत है, लेकिन यह तब ही संभव है जब खिलाड़ी मेरिट के आधार पर चुने जाएं न कि कनेक्‍शन के दम पर आएं।

पाकिस्‍तान के जर्नलिस्ट साज सादिक ने शोएब मलिक (shoaib malik) के हवाले से बताया, ‘अब पकिस्तान टीम में सिर्फ उन्हीं लोगों को जगह मिलती है जिन्हें सिस्टम के लोग पहचानते हैं। मलिक ने आगे कहा कि टीम में किसी भी खिलाड़ी का सिलेक्शन लीग या डोमेस्टिक क्रिकट में किया गए प्रदर्शन के आधार पर होना चाहिए न कि कोई एक मैच। खिलाड़ियों का चुनाव किसी भी टीम में मेरिट पर किया जाता है न कि उनकी पहुंच के दम पर।

जिम्बाब्वे सीरीज का उदाहरण देते हुए कहा, उन्होंने कहा कि कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) टीम में कुछ प्लेयर्स को रखना चाहते थे, लेकिन उनका चुनाव नहीं किया गया। हर किसी के अपने विचार हैं, लेकिन आखिरी फैसला कप्‍तान के चयन पर होना चाहिए क्‍योंकि वो मैदान पर अपनी टीम के साथ लड़ेगा।’ उन्होंने कहा कि कप्तान मैदान पर अपने चुने हुए खिलाड़ियों के दम पर लड़ता है। अगर खिलाड़ी मेरिट के नहीं हैं तो टीम नहीं जीत सकती। इसलिए टीम सिलेक्शन में कप्तान का फैसला सबसे ऊपर होना चाहिए।

मलिक (shoaib malik) ने साथ ही पाकिस्‍तान सुपर लीग (PSL) में खिलाड़‍ियों का प्रदर्शन के आधार पर चयन के बारे में बातचीत भी की। पूर्व पाक कप्‍तान ने कहा कि खिलाड़‍ियों को टी20 लीग में उनके प्रदर्शन के आधार पर राष्‍ट्रीय टीम में चुनना चाहिए, लेकिन यह जजमेंट खिलाड़ी के कुछ सीजन के बाद बनाना चाहिए न कि सिर्फ एक या दो मैच के आधार पर लिया जाए।

अपने करियर को लेकर बात करते हुए शोएब मालिक (shoaib malik) ने कहा, ‘मुझे इस बात का कोई दुख नहीं होगा अगर पाकिस्तानी इंटरनैशनल क्रिकेट टीम के लिए बुलावा नहीं आए।’ मलिक ने कहा, ‘मेरे भाग्‍य में जो भी होगा, वो अल्‍लाह के हाथ में है न कि किसी व्‍यक्ति का उस पर नियंत्रण होगा। उन्होंने आखिरी टी-20 इंटरनैशनल क्रिकेट इंग्लैंड के खिलाफ एक सितंबर 2020 को खेला था। उसके बाद से वह टीम से बाहर हैं।