MI vs DC, Mumbai Wins 5th IPL Title: दिल्ली को हराकर मुंबई ने रचा इतिहास, जीता 5वां खिताब

New Delhi: MI vs DC, Mumbai Wins 5th IPL Title: रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की फिफ्टी और ट्रेंट बोल्ट (Trent Boult) की घातक बोलिंग के दम पर मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) ने दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) को 5 विकेट से हराते हुए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में इतिहास रच दिया।

दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने बोल्ट के झटकों से उबरते हुए कप्तान श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) और ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की फिफ्टी की बदौलत 7 विकेट पर 156 रन बनाए। जवाब में मुंबई (Mumbai Indians) ने हिटमैन (51 गेंद, 5 चौके 4 छक्के, 68 रन) की कप्तानी पारी के दम पर लक्ष्य बेहद आसानी से पा लिया।

इस जीत के साथ ही मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) ने टूर्नमेंट में खिताबी पंच (Mumbai Wins 5th IPL Title) जड़ दिया है। इससे पहले उसने 2013, 2015, 2017, 2019 में खिताब जीते थे। बता दें कि मुंबई इंडियंस सबसे अधिक खिताब जीतने वाली टीम है।

रोहित और डि कॉक ने दी मुंबई को तूफानी शुरुाआत

157 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई इंडियंस ने तूफानी अंदाज में शुरुआत की। पहला ओवर करने आए आर। अश्विन को रोहित शर्मा ने छक्का लगाकर अपने तेवर दिखाए तो दूसरे ओवर में कागिसो रबाडा को क्विंटन डि कॉक ने दो चौके और एक छक्का जड़ डाले। फिर रोहित ने नॉर्त्जे को टारगेट किया और चौका-छक्का जड़ दिया। महज 4 ओवरों में मुंबई का स्कोर 45 रन हो गए थे।

डि कॉक आउट, लेकिन नहीं रुकी रनों की रफ्तार

हालांकि, क्विंटन डि कॉक 5वें ओवर की पहली ही गेंद पर स्टॉयनिश के शिकार हो गए। उनका कैच विकेट के पीछे पंत ने लपका। डि कॉक ने 12 गेंदों में 3 चौके और 1 छक्का की मदद से 20 रन बनाए। यह अलग बात है कि इसी ओवर की अगली दो गेंदों में सूर्यकुमार यादव ने चौका-छक्का लगाते हुए मुंबई का स्कोर 50 रनों के पार पहुंचा दिया। छह ओवर के बाद मुंबई के 1 विकेट पर 61 रन थे।

कप्तान को बचाने के लिए कुर्बान किया सूर्यकुमार ने विकेट

रोहित शर्मा और सूर्यकुमार धांसू अंदाज में पारी आगे बढ़ा रहे थे कि 11वें ओवर में तेज सिंगल चुराने के चक्कर में रोहित दूसरी छोर पर पहुंच गए। हालांकि, शुरुआत से ही ना ना ना करते दिखने वाले सूर्यकुमार ने कप्तान को बचाने के लिए अपना स्टेशन छोड़ दिया। वह 20 गेंदों में 19 रन बनाकर लौटे। जब यह विकेट गिरा तो रोहित को अपनी गलती का अहसास हुआ। वह काफी निराश दिखे।

36 गेंदों में रोहित की हाफ सेंचुरी, IPL में दूसरी बार हुआ ऐसा

12वें ओवर में रोहित ने रबाडा को दो चौके जड़े और इस दौरान 36 गेंदों में इस सीजन की तीसरी हाफ सेंचुरी पूरी की। यह दूसरा मौका है कि किसी भी आईपीएल फाइनल में दोनों टीमों के कप्तानों ने हाफ सेंचुरी पूरी की है। इससे पहले 2016 में डेविड वॉर्नर और विराट कोहली ने फिफ्टी जड़ी थी। यह फइनल सनराइजर्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेला गया था।

श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत की बदौलत दिल्ली 156/7

श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत के अर्धशतकों की मदद से दिल्ली कैपिटल्स ने ट्रेट बोल्ट से मिले शुरुआती झटकों से उबरकर 7 विकेट पर 156 रन का सम्मानजनक स्कोर बनाया। दिल्ली का स्कोर एक समय तीन विकेट पर 22 रन था लेकिन इसके बाद अय्यर (50 गेंदों पर नाबाद 65 रन, छह चौके, दो छक्के) और पंत (38 गेंदों पर 56 रन, चार चौके, दो छक्के) ने चौथे विकेट के लिए 96 रन जोड़कर स्थिति संभाली। बोल्ट ने 30 रन देकर 3 और नाथन कूल्टर नाइल ने 29 रन देकर 2 विकेट लिए। दिल्ली ने अंतिम तीन ओवरों में केवल 20 रन बनाए।

यूं आउट हुए दिल्ली के टॉप बल्लेबाज

दिल्‍ली कैपिटल्‍स की शुरुआत उम्‍मीदों के विपरीत रही और पारी की पहली ही गेंद पर ट्रेंट बोल्‍ट ने मार्कस स्‍टोइनिस को गोल्‍डन डक करके दिल्‍ली को पहला झटका दे दिया। इसके बाद बोल्‍ट ने 16 रन पर अजिंक्‍य रहाणे को आउट करके दिल्‍ली को दूसरा झटका दे दिया। इसके बाद शानदार फॉर्म में चल रहे शिखर धवन भी फाइनल में फ्लॉप रहे और 15 रन बनाकर आउट हो गए।

22 रन पर तीन झटके लगने के बाद कप्‍तान श्रेयस अय्यर ने ऋषभ पंत के साथ बड़ी साझेदारी कर टीम को संभाला और 22 रन से स्‍कोर 100 के पार पहुंचाया। इस दौरान पंत ने इस सीजन का अपना पहला अर्धशतक भी पूरा किया। हालांकि अर्धशतक जड़ने के बाद वह आउट हो गए। कूल्‍टर नाइल ने हार्दिक पंड्या के हाथों उन्‍हें कैच आउट करवाकर दिल्‍ली को 118 रन पर चौथा झटका दे दिया। पंत ने 38 गेंदों पर 56 रन बनाए।

अय्यर और पंत ने संभाला मोर्चा

अय्यर और पंत ने पारी संवारने का बीड़ा उठाया। इस बीच अय्यर जब 14 रन पर थे तब इशान किशन ने कवर पर उनका मुश्किल कैच छोड़ा। पूरे आईपीएल में रन बनाने के लिए जूझने वाले पंत ने शुरू में टिककर खेलने को प्राथमिकता दी और स्ट्राइक रोटेट करने पर ध्यान दिया। दसवें ओवर में जब क्रुणाल पंड्या गेंदबाजी के लिए आए तो पंत ने दो गगनदायी छक्कों से उनका स्वागत किया। इसके कारण रोहित शर्मा को बुमराह को गेंद सौंपनी पड़ी थी।

पंत-अय्यर की फिफ्टी

रोहित ने गेंदबाजी में लगातार बदलाव किए लेकिन इन दोनों की एकाग्रता भंग करना मुश्किल था। अय्यर ने पोलार्ड पर अपनी पारी का पहला छक्का लगाया।

पंत ने कूल्टर नाइल पर फाइन लेग पर चौका लगाकर इस सत्र का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। इसी ओवर में उन्होंने हालांकि आसान कैच देकर अपना विकेट इनाम में दिया। लेकिन अय्यर टिके रहे। उन्होंने 40 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया लेकिन बोल्ट ने दूसरे स्पैल में आकर शिमरोन हेटमयर (पांच) को नहीं टिकने दिया जिससे दिल्ली की डैथ ओवरों की रणनीति भी गड़बड़ा गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *