IPL इतिहास के वो 5 बल्लेबाज.. जिनकी तूफानी बल्लेबाजी ने जड़ दी सबसे तेज सेंचुरी

New Delhi: IPL: टी20 क्रिकेट में बल्लेबाजों के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती हैं। फॉर्मेट ही ऐसा ही आपको हर हाल में गेंद पर आक्रामक प्रहार करने होते हैं। हालांकि क्योंकि वक्त कम होता है इसलिए बल्लेबाज के लिए शतक बनाना थोड़ा मुश्किल होता है। लेकिन कुछ ऐसे धमाकेदार बल्लेबाज हैं जो न सिर्फ ऐसा कर दिखाते हैं बल्कि उनकी (IPL Fastest Centuries) तेजी भी काबिले तारीफ होती है।

IPL में भी खिलाड़ियों ने खूब जौहर दिखाए हैं। हो भी क्यों न दुनिया के चोटी के बल्लेबाज और गेंदबाज इसमें खेलते हैं। और जिस दिन खतरनाक बल्लेबाजों का दिन हो और हालात मुफीद हों उस दिन रेकॉर्ड्स की बारिश होती है।

क्रिस गेल (2013)- 30 गेंद

अप्रैल की 23 तारीख और साल 2013। बेंगलुरू का चिन्नास्वामी स्टेडियम और क्रिस गेल के बल्ले का प्रहार। गेल ने न सिर्फ IPL बल्कि टी20 प्रारूप की सबसे तेज सेंचुरी लगाई। उन्होंने पुणे वॉरियर्स के खिलाफ सिर्फ 30 बॉल पर शतक जड़ा। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने इस मैच में खूब धमाका किया किया।

उन्होंने 66 गेदों पर 175 रनों की नाबाद पारी खेली। यह आईपीएल और टी20 क्रिकेट का सर्वोच्च स्कोर है। गेल ने अपनी पारी में 13 चौके और 17 छक्के लगाए। उनकी पारी की मदद से बैंगलोर ने 5 विकेट पर 263 रन बनाए। उन्होंने पुणे की टीम को 9 विकेट पर 133 के स्कोर पर रोक दिया।

यूसुफ पठान (2010) -37 गेंद

पठान ने धमाकेदार पारी खेली लेकिन यह उनकी टीम को जीत नहीं दिला सकी। इसके बावजूद यह पारी जेहन और रेकॉर्ड बुक में दर्ज हो गई। 13 मार्च 2010 को यूसुफ पठान ने राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलते हुए मुंबई इंडियंस के खिलाफ 37 गेंद पर शतक जमाया। यह उस समय आईपीएल का सबसे तेज शतक था। आईपीएल के टॉप 5 सबसे तेज शतक में यह इकलौता भारतीय नाम है। पठान ने 8 चौके और 9 छक्के लगाए अपनी पारी में।

डेविड मिलर (2013)- 38 गेंद

‘When it is the arch it is out of the park. When it is in the V it is on the tree’ यानी गेंद जब आपकी पहुंच में हो तो वह मैदान से बाहर जानी चाहिए और जब सीधी हो तो मैदान से बाहर पेड़ पर। डेविड मिलर की दोहरायी यह लाइन आईपीएल में काफी फेमस रही। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेलते हुए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 38 गेंद पर शतक जड़ा था।

191 रनों का पीछा करते हुए पंजाब की हालत थोड़ी सख्त थी। उसका स्कोर 13 ओवर बाद 4 विकेट पर 95 रन था। मिलर ने धमाका करते हुए शानदार सेंचुरी लगाई। उन्होंने 8 चौके और सात छक्के लगाए। उनकी पारी के दम पंजाब ने दो ओवर पहले ही 6 विकेट से मैच जीत लिया। मिलर 95 पर थे जब उनकी टीम को जीत के लिए तीन रनों की जरूरत थी। उन्होंने छक्का लगाकर मैच जीता और सेंचुरी पूरी की।

एडम गिलक्रिस्ट (2008)- 42 गेंद

ऑस्ट्रेलिया के लिए गिलक्रिस्ट ने कई यादगार पारियां खेली हैं। सीमित ओवरों के प्रारूप में उन्होंने टॉप ऑफ द ऑर्डर धमाकेदार खेल दिखाया है। आईपीएल में उन्होंने अपने हुनर का शानदार प्रदर्शन किया।

गिलक्रिस्ट ने इंडियन प्रीमियर लीग के पहले सीजन में डेक्कन चार्जर्स की ओर से मुंबई इंडियंस के खिलाफ सिर्फ 42 गेंद पर शतक जमाया। 27 अप्रैल 2008 को खेली गई इस पारी में गिलक्रिस्ट के शतक की मदद से चार्जर्स ने 10 विकेट से मैच अपने नाम किया। गिलक्रिस्ट ने अपनी पारी में नौ चौके और 10 छक्के लगाए। उन्होंने 47 गेंद पर 109 रनो की पारी खेली।

एबी डि विलियर्स (2016) और डेविड वॉर्नर (2017)- 43 गेंद

मौजूदा क्रिकेट के दो सबसे आक्रामक बल्लेबाज हैं एबी डि विलिर्स और डेविड वॉर्नर। इन दोनों ने आईपीएल में कई आक्रामक पारियां खेली हैं। अपने खेल से भारतीय फैंस के दिल में भी उन्होंने अपनी जगह बनाई है। साल 2016 और 2017 में क्रमश: इन्होंने अपनी-अपनी टीम के लिए धमाकेदार सेंचुरी लगाई। सिर्फ 43 गेंद में लगाया गया शतक आईपीएल के इतिहास का पांचवां सबसे तेज शतक है।

दोनों बल्लेबाजों ने अपने-अपने घरेलू मैदानों पर ये शतक लगाए। डि विलियर्स ने गुजरात लायंस के खिलाफ बेंगलुरु मे यह पारी खेली थी। और वॉर्नर ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ हैदराबाद में शतक लगाया जमाया था। डि विलियर्स ने इस मैच में 52 गेंद पर 129 रन बनाए थे। अपनी पारी में उन्होंने 10 चौके और 12 छक्के जड़े थे। वहीं वॉर्नर ने 59 गेद पर 126 रनों की पारी खेली थी। इसमें उन्होंने 10 चौके और 8 छक्के लगाए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *