India tour of England : केवल 3 दिन के क्वारंटीन के बाद प्रैक्टिस करेगी भारतीय टीम

India tour of England

नई दिल्ली, 23 मई (वेबवार्ता)। अगले महीने 2 जून को टीम इंडिया (India tour of England) इंग्लैंड के लिए रवाना होगी. जहां सबसे पहले टीम इंडिया (Team India) को 18 जून से न्यूजीलैंड के विरुद्ध वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) का फाइनल मुकाबला खेलना है. इसके बाद इंग्लैंड और भारत के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जाएगी. 2 जून को इंग्लैंड पहुंचने के बाद टीम इंडिया को कोविड-19 महामारी की वजह से सख्त क्वारंटीन में रहना होगा. 3 दिनों के बाद ही भारतीय खिलाड़ियों को बायो-बबल में प्रैक्टिस करने की इजाजत मिल पाएगी.

बता दें कि इस समय टीम इंडिया (Team India) के खिलाड़ी मुंबई में एकत्र हो रहे हैं. वहां क्वारंटीन में रहने के बाद दो जून को टीम के खिलाड़ी इंग्लैंड के लिए रवाना होगी. भारतीय पुरुष और महिला टीम एक साथ विशेष चार्टर फ्लाइट से जाएंगे. टीम इंडिया (Team India) के खिलाड़ियों का इंग्लैंड में रोडमैप वैसा ही हो सकता है जैसा न्यूजीलैंड अपने टेस्ट दौरे के लिए इंग्लैंड पहुंचने पर अनुसरण कर रहा है. इसमें 2 जून से मेजबान के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज और साथ ही 18 जून से भारत के खिलाफ डब्ल्यूटीसी फाइनल शामिल है. डब्ल्यूटीसी फाइनल के अलावा, भारत अगस्त-सितंबर में इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैच खेलेगा.

न्यूजीलैंड की टीम (Newzeland Team) पहले ही इंग्लैंड पहुंच चुकी है. भारत के विरुद्ध फाइनल मुकाबले से पहले न्यूजीलैंड की टीम इंग्लैंड के विरुद्ध 2 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलेगी. न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को इंग्लैंड में सख्त क्वारंटीन नियमों का पालन करना पड़ा है. 3 दिन में तक क्वारंटीन में रहने के बाद न्यूजीलैंड के खिलाड़ी अपनी प्रैक्टिस शुरू कर पाए थे. हालांकि अभी तक बीसीसीआई ने सारी स्पष्ट स्थिति स्पष्ट नहीं की है.

जल्द ही बीसीसीआई (BCCI) इस मामले में आधिकारिक बयान जारी कर सकता है. लेकिन ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि बीसीसीआई (BCCI) और इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) के बीच इस बारे में बातचीत जारी है. क्योंकि भारत के ज्यादातर खिलाड़ी पहले से ही मुंबई में बायो सिक्योर बबल में है और अन्य अगले कुछ दिनों में शामिल हो रहे हैं. यह कोविड-19 मामलों की बढ़ती संख्या के कारण भारत के यूके सरकार की रेड लिस्ट क्वारंटीन होगा लेकिन इसमें थोड़ी राहत मिल सकती है.