जेवलिन थ्रोइंग में नैशनल रिकॉर्ड ब्रेकर नीरज चोपड़ा का ‘मिशन ओलिंपिक’, मोबाइल से बनाई दूरी

Webvarta Desk: ओलिंपिक खेलों (Tokyo Olympic) पर पूरी तरह से अपना ध्यान लगाने और व्याकुलता से दूर रहने के लिए जेवलिन थ्रोअर (भाला फेंक ऐथलीट) नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) अब अपने मोबाइल फोन से दूर रहेंगे और लोगों से बातचीत नहीं करेंगे। नीरज के चाचा ने रविवार को इसकी जानकारी दी।

नीरज (Neeraj Chopra) के चाचा भीम चोपड़ा ने कहा, ‘तोक्यो ओलिंपिक को शुरू होने में अब 140 दिनों से भी कम समय बचा है और हमारा मानना है कि ओलिंपिक पर उनका ध्यान केंद्रित रहना अच्छा है। यहां तक कि इन दिनों हम भी उन्हें ज्यादा परेशान नहीं करते हैं।’ 23 साल के नीरज ने शुक्रवार को पटियाला में इंडियन ग्रां प्री के तीसरे चरण में 88.07 मीटर के साथ नेशनल रेकॉर्ड बनाया था।

ओलिंपिक (Tokyo Olympic) के लिए क्वॉलिफाइ कर चुके नीरज ने आखिरी बार जनवरी 2020 में दक्षिण अफ्रीकी शहर पोटचेफस्ट्रूम में एक स्थानीय ऐथलेटिक्स मीट में भाग लिया था। चोपड़ा ने 87.86 मीटर का थ्रो रिकॉर्ड किया था, जो कि टोक्यो ओलिंपिक क्वॉलिफिकेशन स्टैंडर्ड 85 मीटर से बेहतर था।

उनके अलावा दूसरे भारतीय भाला फेंक ऐथलीट शिवपाल सिंह भी तोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ कर चुके हैं। चोपड़ा भले ही ओलिंपिक तक का फोन पर किसी से बातचीत करें, लेकिन लेकिन वह अक्सर अपने ट्विटर हैंडल पर सक्रिय रहते हैं। उन्होंने पिछले महीने ही भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में अपने प्रशिक्षण अभ्यास का एक वीडियो पोस्ट किया था।