डैरेन सैमी बोले- IPL में मुझे और थिसारा परेरा को ‘कालू’ कहते थे, मतलब जानकर गुस्से में हूं

New Delhi: अमेरिका से शुरू हुआ नस्लीय भेदभाव (Racial Discrimination) का मामला अब क्रिकेट जगत में भी फैलता दिख रहा है। इसकी यह आंच अब आईपीएल (IPL) तक आती दिख रही है। वेस्ट इंडीज के पूर्व कप्तान डैरेन सैमी (Darren Sammy) ने एक खुलासा किया है कि उन्होंने आईपीएल में नस्लीय टिप्पणी का सामना किया है।

सैमी (Darren Sammy) ने अपने साथ श्रीलंका के खिलाड़ी थिसारा परेरा (Thisara Parera) का नाम भी लिया है। उनके मुताबिक आईपीएल में उन्होंने और परेरा को ‘कालू’ कहकर पुकारा जाता था, जिसका मतलब उन्हें अब मालूम चला है कि अब वह बहुत गुस्से में हैं।

हाल ही में अमेरिका के मिनियापॉलिस इलाके में अफ्रीकी मूल के अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd death in police custody) की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी। इसके बाद से दुनिया भर में नस्लीय भेदभाव के खिलाफ आवाज उठाई जा रही है। इस मुद्दे पर खेल जगत भी सामने आया है।

क्रिस गेल, डैरेन सैमी, आंद्रे रसेल समेत कई खिलाड़ियों ने भी इस मुद्दे के खिलाफ अपनी आवाज उठाई है। इंटरनेट पर आज एक मोबाइल का स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है, जिसे डैरेन सैमी के मोबाइल का बताया जा रहा है। हालांकि इन पोस्ट में यह साफ नहीं है कि उन्हें इस नस्लीय शब्द से कौन पुकारता था। क्या वह फैन्स का नाम ले रहे हैं या फिर कोई और।

इस स्क्रीन शॉट की पोस्ट के मुताबिक सैमी ने लिखा, ‘मुझे अभी ‘कालू’ का मतलब मालूम चला है, जब मैं आईपीएल में सनराइजर्स के लिए खेलता था। वे मुझे और परेरा (थिसारा) को इस नाम से बुलाते थे। मैं सोचता था कि इसका अर्थ मजबूत घोड़ा होता है। लेकिन मेरी पहले की पोस्ट इसका कुछ और अर्थ बता रही है और मैं गुस्से में हूं।’

एक अन्य स्क्रीनशॉट में सैमी और भी गुस्से में दिख रहे हैं। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा, ‘ओह तो इसका यह अर्थ होता है, जब वे मुझे और परेरा को भारत में कालू कहते थे, जब हम सनराइजर्स के लिए खेलते थे। मैं बस यही सोचता था कि वे मुझे मजबूत अश्वेत व्यक्ति बोल रहे हैं…. मैं अब बहुत गुस्से में हूं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *