जो बर्न्स ने कहा, दूसरा टेस्ट श्रृंखला का भाग्य तय करने के लिहाज़ से महत्वपूर्ण

Source : Google
एडीलेड, वेबवार्ता: आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज़ जो बर्न्स का मानना है कि भारत के खिलाफ 26 दिसंबर से मेलबर्न में शुरू होने वाला दूसरा टेस्ट श्रृंखला का भाग्य तय करने के लिहाज़ से बेहद महत्वपूर्ण होगा।

उनका मानना है कि उनकी टीम इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेगी। भारतीय टीम पहले टेस्ट मैच में आठ विकेट की शर्मनाक हार के बाद अब पितृत्व अवकाश (Paternity Leave) पर स्वदेश लौटने वाले विराट कोहली के बिना दूसरे मैच में उतरेगी। श्रृंखला के बाकी मैचों में अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) टीम की अगुवाई करेंगे।

जो बर्न्स (Joe Burns) ने सोमवार को वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमें भी अपनी टीम में कुछ कमियां नज़र आयी हैं। हमें केवल अच्छी तैयारी करनी है, अच्छी शुरुआत करनी है और पिछले मैच की लय को आगे बढ़ाना है।” उन्होंने कहा, “हम जानते हैं कि भारतीय अगले टेस्ट में वापसी करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे क्योंकि यह मैच श्रृंखला (Series) का भाग्य तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।” जो बर्न्स (Joe Burns) ने माना कि कोहली और चोटिल मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) की अनुपस्थिति ‘बड़ा नुकसान’ है लेकिन उन्हें भारत से दमदार वापसी की उम्मीद है।

उन्होंने कहा, “निश्चित तौर पर शमी (Mohammad Shami) और विराट (Virat Kohli) की अनुपस्थिति भारत के लिए बड़ा नुकसान है। लेकिन भारतीय टीम में बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं और इसलिए वे अब भी कड़ी चुनौती पेश करेंगे।” जो बर्न्स ने कहा, “उन जैसे विश्वस्तरीय खिलाड़ियों की जगह भरना हमेशा मुश्किल होता, लेकिन जब देखते हैं कि उनकी जगह कौन खिलाड़ी लेने वाले हैं तो फिर हम अगले मैच के लिए बहुत अच्छी तैयारी के साथ उतर सकते हैं। हम जानते हैं कि भारत (India) मज़बूत वापसी करेगा।”

पहले टेस्ट मैच के दौरान शमी की कलाई में फ्रैक्चर हो गया जिससे वह श्रृंखला के बाकी मैचों से बाहर हो गए। बर्न्स श्रृंखला से पहले खराब फार्म में चल रहे थे लेकिन एडीलेड ओवल में दूसरी पारी में अर्धशतक जड़कर उन्होंने अच्छी वापसी की। बर्न्स ने कहा कि तेज़ गेंदबाज़ उमेश यादव की गेंद पर खेले गए पुल शॉट के बाद वह अपनी पुरानी लय में आ गए हैं।

उन्होंने कहा, “यह कितना दिलचस्प है कि अक्सर एक शॉट आपको वह दे देता है जो एक बल्लेबाज़ के तौर पर आप तलाश रहे होते हैं। उमेश यादव पर मेरा पहला पुल शॉट (Pool Shot) ऐसा ही था जिसके बाद मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा था।” दूधिया रोशनी में खेले गए पहले टेस्ट की दूसरी पारी में जोश हेज़लवुड (Josh Hazlewood) (आठ रन देकर पांच विकेट) और पैट कमिन्स (Pat Cummins) (21 रन देकर चार) की घातक गेंदबाज़ी के सामने भारतीय टीम अपने न्यूनतम स्कोर 36 रन पर आउट हो गई थी। जो बर्न्स ने कहा, “हमारी टीम दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है। हम हर किसी के खिलाफ किसी भी स्थान पर आत्मविश्वास के साथ खेलते हैं। हमारे गेंदबाजों का प्रदर्शन अविश्वसनीय रहा। उन्होंने पहली पारी में भी अच्छी गेंदबाजी की थी।’’

भारत के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithavi Shaw) रन बनाने के लिए जूझ रहे हैं लेकिन जो बर्न्स (Joe Burns) ने उन्हें किसी तरह की सलाह देने से इन्कार कर दिया क्योंकि वह उनके खिलाफ खेल रहे हैं। उन्होंने कहा, “मैं उसे कोई सलाह नहीं दूंगा। मैं उसके खिलाफ खेल रहा हूं। मैं नहीं जानता कि वह वास्तव में किस तरह की फार्म में हैं। वह भारत की तरफ से खेल रहा है तो अच्छा खिलाड़ी होगा। पारी की शुरुआत करना चुनौतीपूर्ण (Challenging) होता है लेकिन मैं श्रृंखला के आखिर में उसे कुछ सलाह (Advice) दे सकता हूं पर अभी नहीं।”