Tuesday, January 26, 2021
Home > Sports Varta > Aus vs Ind 1st Test: टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया की चुनौती, डे-नाइट टेस्ट में किसका पलड़ा भारी?

Aus vs Ind 1st Test: टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया की चुनौती, डे-नाइट टेस्ट में किसका पलड़ा भारी?

Webvarta Desk: Aus vs Ind Test Series: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज (Aus vs Ind 1st Test) की शुरुआत गुरुवार को एडिलेड ओवल मैदान पर डे-नाइट टेस्ट मैच से हो रही है।

भारत के लिए यह प्रारूप (Aus vs Ind Day Night Test) काफी नया है और इसलिए अनुभवी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वह कमजोर दिख रही है। डे-नाइट टेस्ट प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया सबसे अनुभवी टीम है। ऑस्ट्रेलिया ने डे-नाइट प्रारूप में सात टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से चार एडिलेड ओवल में ही खेले हैं।

भारत के पास सिर्फ एक मैच का अनुभव

भारत ने अभी तक डे-नाइट प्रारूप (Aus vs Ind Day Night Test) में सिर्फ एक टेस्ट मैच खेला है। भारत ने यह मैच पिछले साल ईडन गार्डंस में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। भारत का यह पहला डे-नाइट टेस्ट ऑस्ट्रेलिया के पहले टेस्ट मैच के चार साल बाद आया था। भारत को हालांकि इस बात से प्ररेणा मिलेगी की ऑस्ट्रेलिया में एडिलेड में उसने कुछ दमदार प्रदर्शन किए हैं, खासकर हालिया समय में। 2018-19 के पिछले दौरे पर भी भारत ने एडिलेड में जीत हासिल की थी।

इसलिए भारत को मुश्किल

भारत ने दूसरा अभ्यास मैच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर गुलाबी गेंद से ही खेला था। इस तीन दिवसीय अभ्यास मैच में हालांकि भारत के कई टेस्ट विशेषज्ञ- कोहली, चेतेश्वर पुजारा, रविचंद्रन अश्विन, ऋद्धिमान साहा और उमेश यादव नहीं थे। इन सभी को एडिलेड टेस्ट के लिए भारत की अंतिम-11 में जगह मिली है। ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड ओवल की सेंटर विकेट पर लाइट्स में अभ्यास किया है और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने कहा है कि इससे उनकी टीम को फायदा होगा।

ऐसी है टीम इंडिया

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी अंतिम-11 चुन तो ली है लेकिन उसने अभी तक इसका ऐलान नहीं किया है। वहीं भारत ने अपनी अंतिम-11 का ऐलान कर दिया है। मयंक अग्रवाल के साथ कौन पारी की शुरुआत करेगा इसे लेकर संशया था और टीम प्रबंधन ने इसके लिए पृथ्वी साव को चुना है। साव हालांकि दोनों अभ्यास मैचों में विफल रहे थे और चार पारियों में सिर्फ 62 रन ही बना पाए थे। वह इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड में भी रन नहीं कर पाए थे और सिर्फ एक अर्धशतक जमाया था।

ऑस्ट्रेलिया की टेंशन

विकेटकीपर को लेकर भी बहस थी और यहां ऋद्धिमान साहा का अनुभव युवा ऋषभ पंत पर भारी पड़ा है। भारत के नंबर-3, 4, 5 तय हैं। यहां पुजारा, कोहली और रहाणे होंगे। हनुमा विहारी छठे स्थान पर होंगे। वहीं दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे बड़ी समस्या सलामी जोड़ी है। डेविड वॉर्नर के चोटिल होने के बाद टीम विल पुकोवस्की का विकल्प टीम के पास था, लेकिन यह युवा खिलाड़ी कनकशन के कारण पहले टेस्ट से बाहर हो गया है। टीम संभवत: मार्कस हैरिस और मैथ्यू वेड की नई सलामी जोड़ी को आजमा सकती है।

काफी कुछ नंबर-3 मार्नस लाबुशाने और स्टीव स्मिथ पर निर्भर करेगा। टीम की गेंदबाजी हालांकि शीर्ष स्तर की है। हरफनमौला खिलाड़ी कैमरून ग्रीन का खेलना तय है और उनके आने से नियमति गेंदबाजों को बैकअप मिलेगा साथ ही मध्य क्रम भी मजबूत होगा।

भारतीय टीम: विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, पृथ्वी साव, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), हनुमा विहारी, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी।

ऑस्ट्रेलिया टीम: टिम पेन (कप्तान), जोए बर्न्‍स, पैट कमिंस, कैमरून ग्रीन, मार्कस हैरिस, जोश हेजलवुड, ट्रेविस हेड, मोइजेज हेनरिक्स, मार्नस लाबुशाने, नाथन लियोन, मिशेल नासेर, जेम्स पैटिनसन, विल पुकोवस्की, स्टीव स्मिथ, मिशेल स्टार्क, मिसेल स्वेप्सन, मैथ्यू वेड, डेविड वॉर्नर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *