चोर-बदमाशों पर मेरी कड़ी नजर : प्रशांत यादव

बीते महीने दिल्ली के कई थाना अध्यक्षों की तबादले हुए। पुलिस महकमें में थानाध्यक्ष एक वह पद माना जाता है जो नीचले स्टॉफ व आलाअधिकारियों के बीच एक अहम कडी के रुप में कार्य करता है। साथ ही क्षेत्र की जनता के लिए वह एक अभिभावक भी माना जाता है। एक कहावत है कि हर आदमी का नेचर व सिगनेचर अलग होता है। इस ही तर्ज पर हर थानाध्यक्ष एरिया को संभालने व संचालित अपने तरीके से करता है। इनके तरीके व तमाम मुद्दों पर मानसरोवर पार्क के थानाध्यक्ष प्रशांत यादव से योगेश कुमार सोनी की एक्सक्लूसिव बातचीत के मुख्य अंश…

थानाध्यक्ष के रुप में अहम चुनौतियां कौन सी समझते हैं आप?

अपने-अपने स्तर पर हर किसी की चुनौतियां अहम होती हैं और उस हमें स्वीकारना पडेगा। थानाध्यक्ष एक ऐसा पद होता है जिसको बेहद गंभीरता समझकर काम करना पडता है। एरिया में शांति बनाए रखने के हर छोटी-बडी चीजों पर पैनी नजर रखनी होती है। जनता के बीच पुलिस का विश्वास बनाए रखना होता है। कोई एक पक्ष मामला अपने हित में न होता देख वह पक्षपात का आरोप लगा देता है जिसको दोनों पक्षों को समझाना सबसे ज्यादा चुनौतीपूर्ण होता है। थानाध्यक्ष एक गरीमा पूर्ण पद है जिसके आधार उसको हर कसौती पर खरा उतरना होता है।

कोरोना काल के दोनो खंडों में पुलिस की भूमिका सबसे अहम रही। इस पर आपके विचार।

पुलिस की हर समय भूमिका अहम रहती है। देश की किसी भी घटना व हलचल में पुलिस की सतर्कता व कार्य अधिक बढ़ जाता है। हमारे महकमे के अलावा जिन्होनें वाकई धरातल उतर काम करा, मैं उन सभी लोगों को नमन करता हूं। जिसमें डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, एनजीओ व अन्य वो लोग शामिल हैं जिन्होनें अपनी जान पर खेलकर संकट के समय पर देश की सच्ची सेवा की।

सुना है कि किसी मामलें पर आप उत्तेजित नहीं होते और मुस्कुराते हुए अपने काम को अंजाम देते हैं।

पुलिस की नौकरी करते हुए ऐसे-ऐसे किस्से सामने आ चुके हैं कि पता चल जाता है कि किसी मामलें पर कैसे काम करना है। तमाम बडे केसों पर काम कर चुका हूं। आवेश में काम बिगडते हैं और मैं धैर्य व विश्वास के साथ काम करता हूं। चेहरे पर शालीनता व कार्यशैली में आक्रमकता रखता हूं। यदि मैं ही हर वक्त चेहरे पर तनाव रखूंगा तो अपनी टीम व क्षेत्रवासियों को सकारात्मक ऊर्जा कैसे दे पाउंगा।

यदि किसी पीडित पक्ष को लगे कि उसके साथ न्याय नहीं हो रहा तो क्या वह थानाध्यक्ष कक्ष तक जा सकता है?

बिल्कुल आ सकते हैं। हम यहां लोगों की सेवा के लिए ही काम करते हैं। और यह बात मैं आपके माध्यम से कहना चाहता हूं कि यदि इलाके में किसी को कोई भी दिक्कत हो या फिर उसको लगता है कि आईओ या अन्य पुलिसकर्मी उसकी नहीं सुना रहा या अच्छे सा काम नहीं कर रहा तो वह मेरे से फोन करके या मिल कर संपर्क कर सकता है।

शरारती तत्वों व चोरों के लिए क्या एक्शन ऑफ प्लान है व क्षेत्रवासियों के लिए कोई संदेश?

क्षेत्र की सुरक्षा के लिए पुलिस सदैव तत्तर रहती है। बदमाशों व चोरों पर मेरी टीम की निगाह बनी रहती है। क्षेत्रवासियों से मैं यह आग्रह करुंगा कि वह पुलिस की आंख व कान बने। जितना संभव हो सीसीटीवी कैमरे लगवाएं। हम आपकी सुरक्षा के लिए प्रतिबध्द हैं लेकिन आप भी सचेत रहें क्योंकि हमें आपकी चिंता हैं।