मुंबई के गणेशोत्सव पंडाल ने बिखेरा जादू, 600 किलो की गणेश मूर्ति.. रामायण की पेंटिंग्स

lord ganesha
New Delhi: मुंबई में धूमधाम से मनाए जाने वाले गणेशोत्सव (Ganeshotsav) को लेकर उत्साह इस बार कोरोना की वजह से कम है। गणेश पंडाल (Ganeshotsav Pandal) में भी आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बेहद कम है।

लेकिन इसके बावजूद कुछ पंडालों (Ganeshotsav Pandal) में बेहतरीन सजावट की गई है, इनमें से एक है अंधेरी स्थित जितेन हाउसिंग सोसाइटी। यहां 600 किलोग्राम वजनी भव्य गणेश मूर्ति की स्थापना की गई है। साथ ही रामायण की पेंटिंग्स की सजावट भी है।

​आकर्षण का केंद्र बना अंधेरी का गणेशोत्सव पंडाल

मुंबई के अंधेरी स्थित जितेन हाउसिंग सोसाइटी का गणेश पंडाल (Andheri Ganeshotsav Pandal) हर साल की तरह इस बार भी शानदार शिल्प और कलात्मक सजावट की वजह से आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। रामायण की पेंटिंग्स के साथ गणेश की भव्य मूर्ति बनी आकर्षण का केंद्र।

​हाथ से तैयार की गई रामायण के घटनाक्रम की पेंटिंग्स

आयोजक उदय सिंह ने बताया कि आर्ट डायरेक्टर सुयोग भोसले ने मंडप में सिद्धिविनायक की प्रतिकृति तैयार की। वहीं आर्टिस्ट सागर म्हात्रे ने रामायण के घटनाक्रमों की पेंटिंग हाथ से तैयार की है।

​मिट्टी से तैयार गणेश की 600 kg की अद्भुत प्रतिमा

मूर्तिकार केदार गोथानकर ने 100 प्रतिशत मिट्टी से बनी 4 फीट की मूर्ति को तैयार किया है। कुल मिलाकर इसका वजन 600 किलोग्राम है। हर बार की तरह विसर्जन वर्सोवा में नहीं होगा, इसलिए इस वजनदार मूर्ति की लोडिंग-अनलोडिंग की समस्या नहीं होगी।

​कम्पाउंड में ही होगा विसर्जन, आर्टिफिशल तालाब तैयार

आयोजक के बेटे रोहन ने बताया कि बिल्डिंग कम्पाउंड में ही आर्टिफिशल तालाब तैयार किया गया, यहीं पर विसर्जन किया जाएगा। इसके साथ ही दर्शन की लाइव स्ट्रीमिंग के लिए भी तैयारियां की गई हैं।

​और भी पंडाल में खास तैयारी, कई जगह ब्लड डोनेशन कैंप

इसी तरह तेजुकाया चॉल, जीएसबी किंग सर्कल, पारेलचा राजा के गणेश पंडाल में भी खास तैयारियां की गई हैं। गणेश पूजा से लेकर विसर्जन की लाइव स्ट्रीमिंग की व्यवस्था भी है। Covid-19 के मद्देनजर कई जगह पर पंडाल में ब्लड और प्लाज्मा डोनेशन की व्यवस्था भी की गई है।