भारतीय सेना ने रचा इतिहास, पहली बार LOC पर महिला सैनिक तैनात

New Delhi: Women Soldiers at LOC: कश्मीर के कुपवाड़ा में LOC के पास सेना की तरफ से महिला जवानों को तैनात किया गया है। कश्मीर में ऐसा पहली बार हुआ है, जब महिला जवानों को अंदरूनी सुरक्षा के लिए लगाया गया है।

जानकारी के अनुसार, महिला पल्‍टन को टंगधार सेक्टर के साधना टॉप इलाके में तैनात (Women Soldiers at LOC) किया गया है। इस पोस्ट के पार LOC है। इसके अलावा कई सीमांत गांव लगते हैं। इस पोस्ट पर महिला जवानों को तैनात किया गया है। सुरक्षा के लिहाज से यह पोस्ट काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है।

इन महिला जवानों को नार्थ कश्मीर में डेपुटेशन पर लगाया (Women Soldiers at LOC) गया है ताकि वह जमीनी हकीकत से रूबरू हो सके। दिसंबर 2019 को महिला जवानों की भर्ती हुई थी जिसमें उन्हें मिलिट्री पुलिस विंग में भर्ती किया गया। इस समय वह बेंगलूर में ट्रेनिंग प्राप्त कर रही हैं। ट्रेनिंग के दौरान ही उन्हें नार्थ कश्मीर में लगाया गया है ताकि वह कश्मीर के हालात में काम करना सीख लें।

न’शे की तस्‍करी पर खास ध्‍यान

यह महिला पल्‍टन इस इलाके पर पूरी नजर बनाए हुए है। सेना की वर्दी डाल कर पोस्ट पर तैनात महिला जवान जहां एक तरफ एलओसी पर नजर बनाए हुए हैं वहीं इस बात पर भी ध्यान दिया जा रहा है कि अगर सीमा पार से कोई न’शे की खेप लेकर जा रहा है तो उसे भी पकड़ा जा सके।

सेना के आला अधिकारियों का कहना है कि इस इलाके में सीमा पार से आने वाले न’शे की खेप को तस्क’री करके ले जाया जाता है, जिसमें तस्कर महिलाओं की मदद ले रहे हैं। ऐसे में वह आसानी से सेना के हाथों से निकल जाती है। लेकिन अब इस पोस्ट पर महिला जवानों के तैनात रहने से ऐसा होना नामुमकिन है।

सेना के आला अधिकारियों ने बताया कि यह महिला पलटून असम राइफल की है। असम राइफल पहले भी कई ऐसे इलाकों में तैनात रह चुकी है। यहा पर काफी खतरा है। ऐसे में उन्हें कश्मीर में लगाया गया है।

साधना टॉप क्यों पड़ा नाम

टंगधार सेक्टर में साधना टॉप पोस्ट एक महत्वपूर्ण पोस्ट है। यहा से एलअेसी पर निगरानी रखी जाती है। जब 1965 में भारत और पाकिस्‍तान के बीच में युद्व हुआ था तो उस दौरान मशहूर फिल्म अभिनेत्री साधना जवानों का हौंसला बढ़ाने के लिए इस जगह पर आई थी। उसके बाद इस जगह का नाम साधना टॉप और साधना पोस्ट पड़ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *