West Bengal Election 2021 : BJP में शामिल हुए मिथुन चक्रवर्ती, बोले- ‘असली कोबरा हूं, 1 ही दंश में काम तमाम कर दूंगा’

हाइलाइट्स:

  •   बीजेपी में शामिल होने के बाद मिथुन ने खुद को बताया असली कोबरा
  •   बोले- मेरा हक छीना गया तो कोबरा की तरह उठकर खड़ा हो जाऊंगा
  •   टीएमसी ने मिथुन पर साधा निशाना, कहा- पहले नक्‍सली थे चक्रवर्ती
Kolkata Webvarta Desk: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों (West Bengal Election 2021) की सरगर्मियों के बीच अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) बीजेपी में शामिल हो गए। कोलकाता के ऐतिहासिक ब्रिगेड ग्राउंड में पीएम नरेंद्र मोदी की रैली में उन्‍होंने बीजेपी का झंडा थाम लिया। मिथुन चक्रवर्ती की यह दूसरी राजनीतिक पारी शुरू हुई है, इससे पहले वे तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कोटे से अप्रैल 2014 में राज्य सभा पहुंचे थे।

‘मैं पानी का सांप नहीं, कोबरा हूं’

’17 साल की उम्र से गरीबों के लिए काम करने की थी इच्‍छा’

बीजेपी के मंच से चक्रवती (Mithun Chakraborty) ने कहा ‘मैंने एक बार जीवन में कुछ बड़ा करने का सपना देखा था, लेकिन मैंने कभी एक ऐसे मंच पर रहने का सपना नहीं देखा था जहां इतने बड़े नेता और सबसे बड़े लोकतंत्र के नेता, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी मौजूद होंगे। मैं हमेशा जीवन में कुछ बड़ा करना चाहता था, लेकिन कभी भी इतनी बड़ी रैली का हिस्सा बनने का सपना नहीं देखा था, जिसे दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी की तरफ से संबोधित किया जाना है। मैं जब 17 साल का था तब से ही समाज के गरीब वर्गों के लिए काम करना चाहता था और वह इच्छा अब पूरी होगी।’

2014 में टीएमसी की तरफ से बने थे राज्‍यसभा सदस्‍य

गौरतलब है कि लंबे समय से मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) के बारे में चर्चा की जा रही थी कि वह बीजेपी में शामिल होकर पार्टी का सीएम फेस बन सकते हैं। बीते दिनों बंगाल बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने मिथुन से उनके आवास पर मुलाकात की थी। दो महीने पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी मुंबई में अभिनेता से मुलाकात की थी। तभी से मिथुन के बीजेपी में शामिल होने की चर्चाएं तेज हो गई थी। इससे पहले मिथुन वर्ष 2014 में तृणमूल कांग्रेस की तरफ से राज्‍यसभा सदस्‍य बने थे। बाद में 2016 में पोंजी घोटाले में अपना नाम आने के बाद उन्‍होंने स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से पद से इस्‍तीफा दे दिया था।

मिथुन पर TMC का हमला- ‘वह तो नक्‍सली थे’

एक जमाने में टीएमसी के राज्‍यसभा सांसद रहे मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) के बीजेपी में शामिल होने के बाद तृणमूल कांग्रेस ने उन पर करार हमला बोला है। टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने कहा कि मिथुन चक्रवर्ती आज के स्टार नहीं हैं। वह गुजरे जमाने के सितारे हैं। उन्होंने चार बार पार्टियां बदली हैं। वह मूल रूप से एक नक्सली थे, फिर सीपीएम में गए, फिर वह टीएमसी में शामिल हो गए और राज्यसभा सांसद बना दिए गए।

भागवत से मुलाकात के दौरान लिखी पटकथा

मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) के बीजेपी में शामिल होने की चर्चाओं को तब अधिक बल मिला था जब मुंबई में मिथुन के आवास पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने मुलाकात की थी। हालांकि तब मिथुन ने इस मुलाकात को आध्यात्मिक बताते हुए राजनीतिक अटकलों को सिरे से खारिज किया था। लेकिन कैलाश विजयवर्गीय से मुलाकात और पीएम मोदी की रैली में मिथुन की मौजूदगी के बाद तस्वीर काफी हद तक साफ हो गई थी।

बंगाल में मोदी का मेगा शो