UP power crisis: यूपी में हालात सुधरे लेकिन बिजली संकट बरकरार… 3100 मेगावॉट उत्पादन कम

UP power crisis: यूपी में हालात सुधरे लेकिन बिजली संकट बरकरार… 3100 मेगावॉट उत्पादन कम

photo 87012167

लखनऊ
पावर प्लांटों के लिए कोयले का संकट कम जरूर हुआ है, लेकिन पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। यूपी में बुधवार को 3100 मेगावॉट बिजली का उत्पादन कम हुआ। यह मंगलवार की तुलना में कुछ बेहतर है। मंगलवार को 20,000 मेगावॉट मांग की तुलना में करीब 5000 मेगावॉट की कमी थी। इसे पूरा करने के लिए यूपी पावर कॉरपोरेशन ने मंगलवार को 33 करोड़ रुपये की बिजली खरीदी।

कोयले की कमी के कारण राज्य विद्युत उत्पादन निगम के पावर प्लांटों में 700 मेगावॉट, निजी क्षेत्र के पावर प्लांटों में 1800 मेगावॉट और एनटीपीसी के पावर प्लांटों में 600 मेगावॉट बिजली का उत्पादन कम हुआ। कोयले की कमी के कारण प्रदेश के पांच उत्पादन यूनिट पूरी तरह से ठप हैं।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि प्रदेश में शेड्यूल के मुताबिक सप्लाई करने के लिए पावर कॉरपोरेशन एक्सचेंज ने पिछले दो दिनों में औसतन 17 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीदी गई है। ऊर्जा मंत्री ने बुधवार को बिजली सप्लाई की स्थिति का जायजा लेने के लिए स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर मुख्यालय का दौरा किया। मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि त्योहारों के मौके पर किसी भी तरह की कोई कटौती न की जाए।

यहां उत्पादन है ठप
यूनिट——- क्षमता
रोजा——–2 300 मेगावॉट
टांडा———2 110 मेगावॉट
टांड़ा———1 110 मेगावॉट
पारीछा——–4 210 मेगावॉट
हरदुआगंज——7 105 मेगावॉट

पावर प्लांटों में कोयले की स्थिति
प्लांट— स्टॉक
(मीट्रिक टन)—-
जरूरत
पारीछा—– 11,000——- 15500
हरदुआगंज— 12,000——- 9000
ओबरा—— 34,000—— 15000
अनपरा—– 62000——- 42000

नोएडा में दो से चार घंटे की कटौती
नोएडा में भी बिजली संकट बरकरार है। यहां बुधवार को दो से चार घंटे की कटौती का सामना करना पड़ा। इंडस्ट्रियल सेक्टर में रात के वक्त कटौती हो रही है। एनपीसीएल ने इंडस्ट्रियल सेक्टरों के लिए अडवाइजरी जारी की है जिसके अनुसार, रात 7 से 12 बजे के बीच तीन घंटे की कटौती हो सकती है। वहीं अब बिजली विभाग में कार्यरत जेई संगठन ने भी विभाग के अधिकारियों को लिखित तौर पर साफ किया है कि वह शाम 5 बजे के बाद वह काम नहीं करेंगे। बता दें कि सबसे ज्यादा फाल्ट शाम को 5 बजे से रात 9 बजे तक होते हैं।

कोयला मंत्री बोले, दिक्कत नहींकोयला और खदान मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा है कि बिजली उत्पादन के लिए कोयले की आपूर्ति में कोई समस्या नहीं होगी। वह दो दिनों के लिए कोयला उत्पादक राज्य छत्तीसगढ़ और झारखंड के दौरे पर हैं। उन्होने कहा कि ‘आज, बिजली उत्पादन के लिए 11 लाख टन कोयले की जरूरत है और हम पहले ही 20 लाख टन कोयले की आपूर्ति कर चुके हैं। इसकी वजह से स्टॉक भी बढ़ रहा है। मैं विश्वास दिलाता हूं कि देश में बिजली उत्पादन के लिए आपूर्ति में कोई दिक्कत नहीं होगी।’