सुप्रीम कोर्ट में बोली UP की योगी सरकार- ‘मुख्‍तार अंसारी आतंकवादी, उसे बचा रही पंजाब सरकार’

Webvarta Desk: उत्‍तर प्रदेश के एमएलए मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को पंजाब से यूपी के जेल में ट्रांसफर करने के मामले में यूपी सरकार (Yogi Govt) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) को बताया कि पंजाब सरकार (Punjab Govt) मुखर रूप से अंसारी का बचाव कर रही है।

यूपी सरकार (Yogi Govt) ने अंसारी को आतंकवादी कहकर आरोप लगाया कि पंजाब सरकार (Punjab Govt) उनका (Mukhtar Ansari) समर्थन कर रही है। अंसारी पंजाब में फाइव स्टार सुविधा पा रहे हैं, जबकि उनके खिलाफ ह’त्या सहित अन्य गंभीर मामले पेंडिंग हैं। इस मामले में अगली सुनवाई 24 फरवरी को होगी।

यूपी सरकार (Yogi Govt) की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि अंसारी (Mukhtar Ansari) के खिलाफ गंभीर आरोप हैं और मामले यूपी में पेंडिंग हैं। दो साल पहले उन्हें एक नाबालिग से संबंधित केस में पंजाब लाया गया था और तब से वह यहां के जेल में बंद हैं। उन्‍हें संबंधित मामले के मद्देनजर यूपी जेल में ट्रांसफर किया जाए। अंसारी यूपी में पेंडिंग केस में पेशी से बच रहे हैं।

यह भी पढ़ें: CM योगी के दमदार फैसलों ने पेश की नई मिसाल, लव जिहाद कानून से लेकर अपराधियों पर सख्ती तक

‘अंसारी ने पंजाब में जमानत अर्जी भी नहीं लगाई है’

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) को सॉलिसिटर जनरल ने बताया कि पंजाब सरकार कैसे अंसारी का सपोर्ट कर सकती है? बताया जा रहा है कि अंसारी अवसाद से ग्रसित है। पंजाब क्यों अंसारी का बचाव कर रही है? अंसारी पंजाब जेल में रहना चाहते हैं। अंसारी के खिलाफ गंभीर मामले दर्ज हैं और उन्हें पंजाब सरकार सपोर्ट कर रही है, ये सवाल बेहद अहम है। सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि अंसारी पर यूपी में गंभीर मामले दर्ज हैं और उसी में समन जारी हुआ है। पंजाब में दर्ज केस में अंसारी ने जमानत अर्जी भी नहीं लगाई है।

दूसरी तरफ भी यही बात होती है लागू: मुकुल रोहतगी

वहीं, मुख्‍तार अंसारी की तरफ से मुकुल रोहतगी ने कहा कि यही बात दूसरी तरफ भी लागू होती है। तब मेहता ने कहा कि आप फोरम को पसंद तो नहीं कर सकते हैं। आप पांच सितारे सुविधा में रहकर यूपी के ट्रायल में पेश नहीं हो सकते। अदालत से मेहता ने आग्रह किया कि पंजाब सरकार के बयान को रेकॉर्ड पर लिया जाए जिसमें कहा जा रहा है कि इसमें कोई अर्जेंसी नहीं है। वहीं सीनियर एडवोकेट दुष्यंत दवे पंजाब सरकार की ओर से पेश हुए।

‘यूपी में अंसारी पर 10 क्रिमिनल केस’

पंजाब के जेल में बंद एमएलए मुख्तार अंसारी को यूपी के जेल में ट्रांसफर करने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार और अंसारी को नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने को कहा था। यूपी सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अर्जी में कहा गया है कि राज्य में 10 क्रिमिनल केसों में अंसारी की जरूरत है।

‘मामूली अपराध में पंजाब की जेल में हैं अंसारी’

सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार की ओर से दाखिल अर्जी में कहा गया है कि अंसारी के खिलाफ कई केस पेंडिंग है, लेकिन दो साल से वह पंजाब जेल में किसी मामूली अपराध में दो साल बंद हैं। उनके खिलाफ कई बार प्रोडक्शन वारंट जारी हुआ है, लेकिन राज्य जेल अथॉरिटी स्वास्थ्य खराब होने के कारण उन्‍हें पेश करने को टाल कर रही है। ऐसे में मुख्तार अंसारी को यूपी में पेंडिंग केसों का सामना करने के लिए यूपी जेल में शिफ्ट किया जाए।